Home » एन्वायरमेंट » Weather: Good news amid coronavirus, IMD released monsoon dates for this year
 

Weather: इस साल सामान्य रहेगा मानसून, IMD ने जारी की आगमन की तारीखें

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 April 2020, 15:41 IST

कोरोना वायरस (coronavirus) के बीच एक अच्छी खबर है. भारत में इस साल सामान्य मॉनसून रहने की संभावना है. मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बुधवार को जानकारी दी है कि COVID-19 लॉकडाउन के बीच पीड़ित किसानों को यह खुश करने वाली खबर है. पत्रकारों से बातचीत में मिनिस्ट्री ऑफ़ अर्थ साइंस  (MoES) के सचिव माधवन राजीव ने कहा “इस साल मानसून के सामान्य रहने की उम्मीद है. मानसून सीजन 2020 के दौरान बारिश के 100 फीसदी होने की उम्मीद है.“

मानसून की बारिश जून-सितंबर के बीच होगी. बारिश के लिए अपने पहले चरण लॉन्ग रेंज फोरकास्ट (LRF) में, मौसम ब्यूरो ने कई स्थानों पर इसके आगमन की तारीखें भी दीं है. विभाग ने कहा कि केरल में मॉनसून 1 जून को आएगा है. जबकि चेन्नई में 4 जून, पंजिम 7 जून, हैदराबाद 8 जून, पुणे 10 और मुंबई 11 तारीख को संभावना है. मानसून 27 जून को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली पहुंचेगा.


MeT विभाग दो चरणों में LRF जारी करता है- पहला चरण पूर्वानुमान अप्रैल में और दूसरा जून में जारी किया जाता है. ये पूर्वानुमान सांख्यिकीय एनसेंबल फोरकास्टिंग सिस्टम (एसईएफएस) और डायनेमिक कपल्ड महासागर-वायुमंडलीय मॉडल का उपयोग करके जारी किए जाते हैं. भारत अपनी वार्षिक वर्षा का लगभग 70 फीसदी मानसून के दौरान प्राप्त करता है जो आमतौर पर जून में शुरू होती है और सितंबर तक पीछे कम होनी शुरू हो जाती है.

देश में चावल, गेहूं, गन्ने और तिलहन की खेती के लिए मॉनसून वर्षा महत्वपूर्ण है, जहां खेती अर्थव्यवस्था के लगभग 15 फीसदी हिस्से में होती है और इसके आधे से अधिक लोगों को रोजगार मिलता है. एक अनुमान के अनुसार अर्थव्यवस्था में खेती का योगदान 15 फीसदी है. देश के करीब 30 करोड़ लोगों को इस क्षेत्र से डायरेक्ट या इनडायरेक्ट तरीके से रोजगार मिलता है.

कोरोना वायरस के बाद इस साल दुनिया पर मंडरा रहा है इन समुद्री तूफानों का खतरा

First published: 15 April 2020, 15:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी