Home » एन्वायरमेंट » Winter Solstice Today is the smallest day and night is longest of the year
 

आज है साल का सबसे छोटा दिन, इतनी लंबी होगी रात, जानिए क्यों होता है ऐसा

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 December 2018, 16:11 IST

21 दिसंबर साल का सबसे छोटा दिन होता है इस दिन रात दिन की अपेक्षा लंबी और सर्द होती है. इस दिन को विंटर सोल्सटिस कहा जाता है. इस दिन धरती सूरज का आम दिनों की अपेक्षा सबसे दूर हो जाती है. इसे हिंदी में दक्षिणायन कहा जाता है. गूगल सर्च इंजन ने शीत संक्रांति यानि विंटर सॉल्सटिस के मौके पर खास डूडल बनाकर इसे सेलिब्रेट किया है.

बता दें कि साल के सबसे छोटे दिन को विंटर सॉल्सटिस यानि संक्रांति कहा जाता है. इसीलिए आज का दिन सबसे छोटा होता है. यही नहीं यह साल बहुत विशेष है क्योंकि इस साल दिसंबर का पूरा चंद्रमा जिसे कोल्ड मून कहा जाता है आज रात में आसमान में पूर्ण रूप से दिखाई देगा. यह पूरा चांद शुक्रवार और शनिवार की रात देखा जा सकेगा. वहीं मूल अमेरिकियों में दिसंबर की पूर्णिमा को वर्ष के सबसे ठंडी अवधि की शुरुआत के रूप में चिह्नित किया जाता है.

बता दें कि उत्तरी गोलार्द्ध में शुक्रवार का दिन सर्दियों का का पहला दिन माना जाता है. इस दिन रात साल में सबसे लंबी होती है. इस साल भारत में विंटर सॉल्सटिस 22 दिसंबर को तड़के 3.53 बजे होगा. बता दें कि यह स्थिति तब होती है जब सूर्य सीधे मकर रेखा के ऊपर होता है. तकनीकी तौर पर जानें तो दक्षिणी गोलार्द्ध में सूर्य का प्रकाश ज्यादा जाता है जबकि उत्तरी गोलार्द्ध में कम और यही वजह है कि इस दिन उत्तरी गोलार्द्ध में दिन छोटा होता है और रात लंबी. हालांकि इसी दिन के बाद दिन का समय बढ़ना शुरु हो जाता है.

ये भी पढ़ें- नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी के मुताबिक 2019 में तबाह हो जाएगी धरती!

First published: 21 December 2018, 16:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी