Home » यूरो कप 2016 » UEFA Euro 2016: Germany enter semifinal defeat italy in penalty shootout
 

यूएफा यूरो 2016: सेमीफाइनल में मेजबान फ्रांस से भिड़ेगी मजबूत जर्मनी

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 July 2016, 17:10 IST
(रॉयटर्स)

यूरो कप के तीसरे क्वार्टर फाइनल में रविवार को जर्मनी ने पेनल्टी शूटआउट में इटली को 6-5 से शिकस्त देकर टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश किया. इटली पर किसी भी बड़े टूर्नामेंट में ये जर्मनी की पहली जीत है और अब उसका सामना सेमीफाइनल में मेजबान फ्रांस से होगा.

मैच के 65वें मिनट में मेसुत ओजिल ने गोल कर जर्मनी को पहली सफलता दिलाई. लेकिन ज्यादा देर नहीं हुई जब इटली को एक पेनल्टी मिला. मैच के 78वें मिनट में इटली के लियोनार्डो बोनुस्की ने पेनल्टी के जरिए मैच को बराबरी पर ला दिया.

जर्मनी और इटली के बीच निर्धारित समय तक स्कोर 1-1 से बराबर रहा, जिसके बाद अतिरिक्त समय में भी कोई गोल नही हो सका और मैच का फैसला पेनल्टी शूटआउट में जाकर हुआ.

जर्मनी के जोनास हेक्टर ने दागा विजयी गोल

पेनल्टी शूटआउट के दौरान मैच रोमांच के चरम पर पहुंच गया. दोनों टीमों ने पेनल्टी शूटआउट के दौरान कई मौके गंवाए, जिसकी वजह से पहली पांच पेनल्टी में दोनों टीमें बराबर रहीं और कोई नतीजा नहीं निकल सका.

इसके बाद सडन डेथ में एक के बाद एक स्कोर बराबर होता रहा और कुल 18 पेनल्टी हुई, जिसमें जर्मनी ने इटली को 6-5 से हराते हुए सेमीफाइनल में जगह बनाई.

जर्मनी के लिए ओजिल, थामस मुलर और बास्टियान श्वेंस्टेगर पेनल्टी शूटआउट में गोल करने में असफल रहे. वहीं इटली के लिए सिमोन जाजा, लियोनार्डो बोनुस्की, माटियो डारमिया और ग्राजियानो पेले गोल नहीं कर सके.

जर्मनी के गोलकीपर मैनुएल नुएर ने इटली की ओर नौंवी किक लेने आए माटियो के प्रयास को विफल कर दिया. इसके बाद हेक्टर पेनल्टी शूटआउट में गोल कर जर्मनी की जीत के नायक बन गए.

बदल दिया इतिहास

इस जीत के साथ ही जर्मनी ने बड़े टूर्नामेंट में मिली हार का बदला लेते हुए इटली के भ्रम को भी तोड़ दिया. इससे पहले वर्ल्ड चैंपियन जर्मनी का इटली के खिलाफ पिछला रिकॉर्ड काफी खराब रहा और उसे हर बड़े टूर्नामेंट के नॉकआउट में इटली से शिकस्त झेलनी पड़ी थी. 

गौरतलब है कि पिछले 40 साल में जर्मनी किसी भी बड़े टूर्नामेंट में पेनाल्टी शूट आउट में नहीं हारा है.

इस जीत के बाद जर्मनी के कोच योआखिम लोएव ने टीम के युवा खिलाड़ियों की जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा, "हमारी टीम में शानदार पेनल्टी स्पेशलिस्ट खिलाड़ी मौजूद हैं. लेकिन आज वे चूक गए. युवाओं ने अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई. हेक्टर और किमिच का यह पहला बड़ा टूर्नामेंट था, लेकिन उन्होंने कर दिखाया."

वहीं जर्मनी के गोलकीपर मैनुएल नुएर ने कहा, "मैंने अपने करियर में इस तरह की पेनल्टी का अनुभव नहीं किया है. मुझे नहीं पता कि वे कितने थे लेकिन अधिकतर ने बीच में ही शॉट लगाया. भाग्य से मैंने अंतिम शॉट को रोक लिया."

मेजबान फ्रांस ने आइसलैंड को किया बाहर

वहीं यूरो कप फुटबॉल टूर्नामेंट के आखिरी क्‍वार्टर फाइनल मैच में एंटोनी ग्रिएजमान और जिरू के शानदार प्रदर्शन की बदौलत मेजबान फ्रांस ने आइसलैंड को एकतरफा मुकाबले में 5-2 से से रौंदते हुए सेमीफाइनल में जगह बनाई. अब 7 जुलाई को सेमीफाइनल मुकाबले में फ्रांस की भिड़ंत जर्मनी के साथ होगी.

मैच के पहले ही हॉफ में फ्रांस के लिए पॉल पोग्बा, दिमित्री पाएट, एंटोनी ग्रिएजमान और जिरू ने क्रमश: 12वें, 20वें, 43वें और 45वें मिनट में पांच गोल दागे, जिसकी बदौलत टीम ने आइसलैंड पर 4-0 से बढ़त बनाई. पहले हॉफ के बाद आइसलैंड ने 56वें मिनट में पहला गोल दागा. टीम के लिए यह गोल कॉलबेंन सिगथोरसौन ने किया.

इसके जवाब में फ्रांस के लिए जिरू ने अगले तीन मिनट में अपना दूसरा गोल किया. बिर्किर बार्नासन ने 84वें मिनट में आइसलैंड की तरफ से दूसरा गोल दागा, लेकिन फ्रांस ने 5-2 की धमाकेदार जीत के साथ सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया.

First published: 4 July 2016, 17:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी