Home » हरियाणा » 31 deaths so far in panchkula-chandigarh in Baba Ram Rahim case, supporters turn violent, railway stations-petrol pumps-vehicles on fire
 

बाबा के गुंडों की हिंसा में 31 की मौत, सैकड़ों घायल, 1000 प्रदर्शनकारी धरे गए, नुकसान की भरपाई करेगी सरकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 August 2017, 8:59 IST

डेरा प्रमुख गुरमीत को विशेष सीबीआई अदालत द्वारा दोषी करार देने के बाद कुछ ही घंटों में पंचकूला समेत हरियाणा और पंजाब में हालात बेकाबू हो गए. डेरा के गुंडों द्वारा मचाए गए उपद्रव में 31 लोगों की मौत हो गई जबकि सैकड़ों घायल हो गए.

इससे पहले बृहस्पतिवार और शुक्रवार को हरियाणा प्रशासन ने दावा किया था कि वे किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं और मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस, पीएसी, सीआरपीएफ और सेना को तैनात किया जा चुका है. हालांकि बावजूद इन दावों के केवल दो घंटे के भीतर ही हालात बेकाबू हो गए और हिंसा-आगजनी-गोलीबारी की दर्जनों घटनाएं सामने आ गईं. 

समर्थकों ने कोर्ट का फैसला आने के बाद जमकर उत्पात मचाना शुरू कर दिया. भड़की हिंसा के बीच पंचकूला और चंडीगढ़ में एक बच्चे समेत 31 लोगों की मौत हो गई. इनमें पंचकूला में 13 और चंडीगढ़ में 12 की जान चली गई. वहीं, 300 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं. पंचकूला-चंडीगढ़ समेत तमाम स्थानों के सरकारी अस्पतालों में घायलों का इलाज किया जा रहा है और सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की जा रही है.

वहीं, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने हालात को नियंत्रण में बताया है. उनका कहना है कि हालात को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी चर्चा की है और स्थिति पर नजर रखे हुए हैं.

दूसरी तरफ, हरियाणा सरकार के अतिरिक्त प्रमुख सचिव राम निवास ने कहा कि राज्य सरकार मीडिया और निजी संपत्ति को हुए नुकसान की भरपाई करेगी. हमारे पास वीडियो फुटेज हैं और प्रदर्शनकारियों की पहचान कर ली गई है. उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. ज्यादातर प्रदर्शनकारी अन्य शहरों के थे. उन्होंन डेरा समर्थकों से अपील की कि वे शांति बनाए रखें और बिखर जाएं. कानून-व्यवस्था बनाए रखना उनकी जिम्मेदारी है.

इससे पहले पंचकूला में विशेष सीबीआई कोर्ट द्वारा जैसे ही बाबा गुरमीत सिंह को दोषी करार दिया गया, बाहर पहले से ही मौजूद डेरा समर्थकों ने मीडियाकर्मियों की ओबी वैन तोड़ते हुए मीडियाकर्मियों पर भी हमला बोल दिया. पंजाब के मनसा, बठिंडा, संगरुर समेत तमाम शहरों में तमाम गाड़ियों को आग के हवाले करते हुए सर्मथक बेकाबू हो गए. पंजाब के मल्लौत और बठिंडा में रेलवे स्टेशन-पेट्रोल पंप में आग लगा दी गई. रही है.

पंजाब-हरियाणा के कई शहरों में बाबा राम रहीम के गुस्साए समर्थकों ने हाथ में लाठी-डंडे, धारदार हथियार-असलहों के बल पर कई रेलवे स्टेशन, पॉवर हाउस, तहसील भवन समेत ओबी वैन-फायर ब्रिगेड समेत सैकड़ों वाहनों को फूंक दिया.

पंचकूला में हालात काफी खराब हो गए थे. आसमान आगजनी के बाद धुएं से भर गया. पंजाब-हरियाणा में 300 से ज्यादा लोग घायल हो चुके हैं. गुस्साए डेरा समर्थकों के सामने जो आ रहा है उसे ही निशाना बना रहे थे. वहीं, पुलिस-सुरक्षाबल स्थिति संभालने के प्रयास में जुटे हुए थे.

हालांकि बताया जा रहा है कि अब हालात काबू में हैं और हरियाणा के डीजीपी मोहम्मद अकील ने कहा कि हिंसा करपने वाले डेरा के 1000 से ज्यादा समर्थकों को हिरासत में ले लिया गया है.

हालात बिगड़ते देख पंचकूला, सिरसा, बठिंडा समेत पंजाब, हरियाणा के तमाम शहरों में कर्फ्यू लगा दिया गया है. वहीं, हरियाणा से जुड़े दिल्ली-पंजाब-उत्तर प्रदेश की सीमाओं पर चौकसी कड़ी कर दी गई है. चारों राज्यों की पुलिस सख्त हो गई है और सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. हरियाणा से सटे दिल्ली-यूपी के इलाकों में धारा-144 लगा दी गई है.  

First published: 25 August 2017, 19:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी