Home » हरियाणा » gurmeet ram rahim rape case: section 144 imposed across haryana ahead of verdict in dera chief case in panchkula,chandigarh in punjab.
 

यौन शोषण केस: गुरमीत राम रहीम पर फ़ैसले से पहले हरियाणा छावनी में तब्दील

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 August 2017, 12:34 IST

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ दुष्कर्म के एक मामले में इस हफ्ते अदालत का फैसला आने से पहले हरियाणा सरकार ने राज्य में निषेधाज्ञा लागू कर दी है. अतिरिक्त मुख्य सचिव राम निवास ने मंगलवार को यह जानकारी दी.

अधिकारी ने एक बयान में कहा, "सुरक्षा बलों को दूसरे राज्यों से लगने वाली सीमा के इलाकों में तैनात किया गया और केंद्र सरकार से पहले ही अर्धसैनिक बलों की 115 कंपनियां देने का आग्रह किया गया है."

उन्होंने कहा कि असमाजिक तत्वों या किसी अन्य व्यक्ति को कानून एवं व्यवस्था में बाधा पहुंचाने पर गिरफ्तार किया जाएगा. राम निवास ने कहा कि पुलिस कर्मियों की छुट्टियां निरस्त कर दी गई हैं और होम गार्ड्स को ड्यूटी पर बुलाया गया है.

उन्होंने कहा, "राज्य की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है और वाहनों की अंतर-राज्य व अंतर जिला गतिविधियों पर निगरानी रखी जा रही है."

हरियाणा के पंचकुला की सीबीआई की विशेष अदालत दुष्कर्म के मामले में 25 अगस्त को फैसला देगी जिसमें डेरा सच्चा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह आरोपी हैं. मामले की सुनवाई 2007 से चल रही है.

गुरमीत राम रहीम के पंजाब, हरियाणा और दूसरे राज्यों में लाखों अनुयायी हैं. गुरमीत राम रहीम पर उनकी पूर्व महिला अनुयायी ने डेरा शिविर में कई बार दुष्कर्म किए जाने का आरोप लगाया है. यह डेरा शिविर हरियाणा के सिरसा के बाहरी इलाके में है. यह चंडीगढ़ से 260 किलोमीटर दूर है.

First published: 23 August 2017, 12:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी