Home » हरियाणा » Haryana: CM Manohar Lal Khattar says Namaz should be read in mosques rather than public spaces
 

हरियाणा: सिर्फ मस्जिद में पढ़ सकेंगे नमाज, CM खट्टर ने सार्वजनिक जगहों पर लगाई रोक

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 May 2018, 13:08 IST

हरियाणा में नमाज को लेकर हो रहे विवाद के बीच मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सार्वजनिक जगहों पर नमाज करने से रोक लगा दी है. मनोहर लाल खट्टर ने अपने आदेश में कहा है कि नमाज ईदगाह या मस्जिद में अदा की जानी चाहिए, न कि सार्वजनिक जगह पर.

दरअसल, पिछले कुछ दिनों से हरियाणा में हिंदूवादी कार्यकर्ताओं द्वारा नमाज का विरोध किया जा रहा है. शुक्रवार (4 मई) को दिल्ली से सटे गुरुग्राम में कई जगह जुमे की नमाज नहीं पढ़ने दी गई. कुछ दिनोंं पहले गुरुग्राम के वजीराबाद इलाके में शुरू हुआ नमाजविरोधी अभियान काफी तेजी से फैला.

पढ़ें- शोपियां में मारा गया आतंकी प्रोफेसर, हिज्बुल के टॉप कमांडर समेत 5 आतंकी ढेर

 

शुक्रवार को कई हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने जय श्रीराम और बांग्लादेशी वापस जाओ समेत अन्य धार्मिक नारे लगाते हुए कई जगहों पर मुस्लिम समुदाय के लोगों को खाली पड़ी जमीन पर नमाज पढ़ने से रोका था. इसके बाद काफी हंगामा हुआ था. 

सेक्‍टर 53 में मुसलमानों के खुले में नमाज पढ़ रहे लोगों को कथित हिंदूवादी संगठन के युवकों ने धमकाकर भगा दिया थ्‍ाा. इस मामले में पुलिस ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया था. पुलिस ने मौके पर पहुुंच कर मामले को शांत कराया था और वहां से नमाजियों को वापस भेज दिया था.

अब इसी को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री ने ये आदेश जारी किया है. मुख्‍यमंत्री खट्टर ने नमाज को लेकर बयान दिया और कहा कि हरियाणा में सार्वजनिक जगहों पर नमाज नहीं पढ़ी जाएगी. सिर्फ मस्जिदों में ही नमाज पढ़ी जाएगी. उन्‍होंने कहा कि आजकल खुले में नमाज ज्‍यादा पढ़ी जा रही है. राज्‍य में कानून व्‍यवस्‍था लागू कराना उनका काम है. ऐसे में नमाज ईदगाह या मस्जिद में ही पढ़ी जानी चाहिए.

First published: 6 May 2018, 13:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी