Home » हरियाणा » Haryana Government asks sports-persons to deposit one-third of their income for development of sports in the state
 

खट्टर सरकार का फरमान, राज्य के सभी खिलाड़ी दान करें अपनी कमाई का 33 फीसदी हिस्सा

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 June 2018, 12:08 IST

हरियाणा सरकार ने एक नोटिफिकेशन जारी कर राज्य के एथलीट्स यानी स्पोर्ट्स पर्सन्स से उनकी कमाई की 33 फीसदी हिस्सा मांगा है. सरकार ने खिलाड़ियों से पूछा है कि क्या वो राज्य में खेल को बढ़ावा देने के लिए अपनी कमाई का एक तिहाई हिस्सा दे सकते हैं.

हरियाणा सरकार द्वारा बीते 30 अप्रैल को जारी किए गए इस नोटिफिकेशन में ये बातें कही गई हैं. हरियाणा सरकार ने स्पोर्ट्स पर्सन्स से पूछा है कि वो अपनी प्रोफेशनल स्पोर्ट्स और कमर्शियल एंडोर्समेंट की कमाई का एक तिहाई हिस्सा हरियाणा स्टेट स्पोर्ट्स काउंसिल को दें तो इस रकम को राज्य में खेल को बढावा देने के लिए खर्च किया जाएगा.

बता दें कि ये नोटिफिकेशन किसी एक खेल के खिलाड़ियों के लिए बल्क हर एक खेल के खिलाड़ियों के लिए है. इस बात को लेकर जब ओलोंपिक मेडिलिस्ट और रेस्लर सुशील कुमार से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सरकार को इस पॉलिसी के बारे में दोबारा सोचना चाहिए. हमने कभी भी इस तरह के आदेश के बारे में दुनिया के किसी भी कोने में नहीं सुना.

राज्य की एक और बड़ी एथलीट गीता फोगाट से जब हरियाणा सरकार के इस प्रपोजल के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यह बात और नया नियम तब समझ में आता जब सरकार क्रिकेटर्स से उनकी 33 फीसदी कमाई मांगती क्योंकि वो कमर्शियल एंडोर्समेंट के जरिए बहुत पैेसे कमाते हैं. यह वाकई हैरान करने वाला है कि सरकार ने ऐसा किया है.

हरियाणा सरकार का खेल से जुड़ा विवाद नया नहीं है इससे पहले सरकार ने कॉमनवेल्थ में मेडल जीतने वाले खिलाड़ियों को एक उचित इनामी राशी देनी की बात कही थी. इसके लिए खट्टर सरकार ने एक सम्मान समारोह भी रखा था लेकिन बाद में जब गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ में 22 खिलाड़ियों ने मेडल जीत लिया तो खट्टर सरकार ने इनामी राशि में कटौती कर दी. इसके बाद कई खिलाड़ियों ने सम्मान समारोह का बहिष्कार कर दिया. ऐसे में सरकार को सम्मान समारोह रद्द करना पड़ा था.

First published: 8 June 2018, 11:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी