Home » हरियाणा » Haryana Govt Asks in School Admission Form Are Your Parents Engaged In Unclean Occupation
 

हरियाणा: खट्टर सरकार ने स्कूली बच्चों से पूछा- आपके मां-बाप 'गंदा' काम तो नहीं करते?

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 April 2018, 15:48 IST

हरियाणा सरकार एक नए विवाद में फंसती नजर आ रही है. दरअसल, हरियाणा सरकार की ओर से प्राइवेट स्कूलों में दिए गए एक एडमिशन फॉर्म में कुछ ऐसे सवाल पूछे गए हैं जो सुर्खियों में हैं. इस फॉर्म में छात्रों से पूछा गया है कि उनके मां-बाप कोई अस्वच्छ या गंदा काम तो नहीं करते? इसे लेकर विपक्षी पार्टियां खट्टर सरकार पर हमलावर हो गई हैं.

कांग्रेस ने इस फॉर्म को लेकर खट्टर सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि खट्टर सरकार ने फिर वही काम किया. सुरजेवाला ने कहा कि खट्टर सरकार ने छात्रों को 'अछूत' और उनके मां-बाप को 'अस्वच्छ' ठहरा दिया. सूरजेवाला ने कहा कि वास्तव में यह छात्रों और उनके माता-पिता पर निगरानी रखने जैसा है.

बता दें कि राज्य के प्राइवेट स्कूलों ने बच्चों को करीब 100 सवालों वाला एक फार्म दिया है. इसमें बच्चों की निजी जानकारी ली जा रही है. फॉर्म में उनके परिवार, जाति, धर्म, आधार कार्ड, बैंक एकाउंट से जुड़ी जानकारी मांगी गई है. साथ ही फॉर्म में सवाल पूछा गया है कि क्या उनके मां-बाप कोई 'अस्वच्छ या गलत' काम तो नहीं करते हैं? खास बात ये है कि यह सवाल शिक्षा विभाग की ओर से जारी किया गया है और स्कूलों के लिए आवश्यक है.

पढ़ें- पीएम मोदी पर असदुद्दीन ओवैसी की चुटकी- अपने झूठे वादों के लिए क्यों नहीं बैठते उपवास पर?

मामले को लेकर प्राइवेट स्कूल भी बच रहे हैं. स्कूलों का कहना है कि यह स्कूल की तरफ से नहीं बल्कि सरकार की ओर से जारी किए गए हैं. स्कूल प्रशासन का कहना है कि सरकार ने हमें परिवार वालों से ये फॉर्म भरवाने के लिए कहा है. कई अभिवावकों ने आय, बैंक अकाउंट जैसी जानकारी देने से मना कर दिया है.

प्रशासन ने बताया कि स्कूल इस तरह की जानकारी नहीं लेती है और अगर किसी को कोई दिक्कत है तो उसे सरकार से बात करनी होगी. वहीं कांग्रेस का कहना है कि जिस तरह से लोगों की व्यक्तिगत सूचना मांगी जा रही है वो आपत्तिजनक है. माता-पिता के पेशे को अस्वच्छ कहना बहुत ही बेतुका है. निगरानी करना बीजेपी के डीएनए में शामिल है.

First published: 11 April 2018, 15:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी