Home » हरियाणा » Haryana: Women were asked to take off their Black Dupattas in CM Khattar Rally
 

इस मुख्यमंत्री को लगता है 'काले रंग' से डर, उतरवाई रैली में आईं महिलाओं की चुन्नी

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 October 2017, 14:04 IST

लगता है हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को 'काले रंग' से डर लगता है, शायद इसीलिए भिवानी में आयोजित उनके एक कार्यक्रम में आईं तमाम महिलाओं की चुन्नी उतरवा दी गईं. कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने से पहले महिलाओं के सामने शर्त रखी गई कि या तो वे चुन्नी उतार दें या फिर बदल दें. इसके चलते तमाम महिलाएं गुस्से में वापस लौट गईं.

दरअसल शनिवार को भिवानी के भीम स्टेडियम में हरियाणा स्वर्ण जयंती समारोह का आयोजन किया गया था. मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया कि इस कार्यक्रम के लिए हरियाणा के पंचायती राज मंत्री ओपी धनकड़ ने स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को बुलाया था.

समारोह में शामिल होने पहुंची कुछ महिलाओं ने काले कपड़े पहने हुए थे जबकि तमाम काली चुन्नी पहने हुए थीं. जिन महिलाओं ने काले कपड़े पहने थे उन्हें तो पंडाल के अंदर जाने की इजाजत ही नहीं दी गई. साथ ही जिन महिलाओं ने काली चुन्नी पहनी हुई थी, उनसे कहा गया कि अगर पंडाल के अंदर जाना है तो पहले बाहर ही चुन्नी उतारनी पड़ेगी.

काले कपड़े पहनने वाली महिलाएं तो पहले ही वापस कर दी गईं. जबकि चुन्नी उतारने की शर्त पर भी कई महिलाओं ने खरी-खोटी सुनाते हुए वहां से लौटना ही मुनासिब समझा. कई महिलाएं ऐसी भी थीं जिन्होंने पंडाल में जाने से पहले काली चुन्नी उतारकर बाहर टांग दी.

कार्यक्रम के बाद वापसी के वक्त तमाम महिलाओं की चुन्नी ही नहीं मिली और उन्हें बिना दुप्पटे के वापस घर लौटना पड़ा.

इस घटना की जानकारी मिलने पर विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय चौटाला ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, "यह महिलाओं का अपमान है. मुख्यमंत्री खट्टर को इस मामले पर जवाब देना चाहिए. मुख्यमंत्री को शायद यह पता नहीं है कि महिलाओं का सम्मान कैसे किया जाता है. चुनरी-दुप्पटे को महिलाओं की इज्जत माना जाता है और इन्हें उतराकर इज्जत से खिलवाड़ किया गया है."

First published: 8 October 2017, 13:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी