Home » हरियाणा » Rampal has been acquitted in the two criminal cases by hisar court in haryana.
 

रामपाल को हिसार की कोर्ट ने किया बरी लेकिन जेल में रहेंगे

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 August 2017, 16:20 IST

हरियाणा, हिसार के बरवाला के सतलोक आश्रम से जुड़े दो मामलों में हिसार की जिला अदालत ने रामपाल को बरी कर दिया है. रामपाल पर सरकारी कामकाज में बाधा पहुंचाने और लोगों को बंधक बनाकर हिंसा के लिए उकसाने का आरोप था.

इन दो मामले में रामपाल समेत 14 लोगों को बरी किया गया है. अभी तीन और मामलों में फैसला आना बाकी है. हिसार सेंट्रल जेल नंबर-1 से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए रामपाल ने इस कार्यवाही में हिस्सा लिया. इस फैसले के मद्देनजर हिसार में धारा 144 लागू कर दी गई थी. सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किेए गए थे. हिसार शहर की सीमाएं सील कर दी गई थीं.

गौरतलब है कि सतलोक आश्रम के संचालक रामपाल के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज है, इसी मामले में वह करीब तीन साल से जेल हैं. साल 2006 में रामपाल पर हत्या का केस दर्ज हुआ था. रामपाल ने स्वामी दयानंद की लिखी एक किताब पर विवादित टिप्पणी की थी, जिसके बाद दोनों पक्षों के बीच हुई हिंसक झड़प में एक शख्स की मौत हो गई थी. रामपाल नवंबर 2014 से दूसरे आरोपियों के साथ जेल में बंद है. 

साल 2013 में एक बार फिर से आर्य समाजियों और रामपाल के समर्थकों के बीच हुई झड़प में तीन लोगों की मौत हो गई और करीब 100 लोग घायल हो गए थे.

First published: 29 August 2017, 16:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी