Home » हरियाणा » Rewari Gangrape case: Haryana police Arrest a Local Doctor who gave Primary treatment, Victim Mother Refuse to take Compensation
 

रेवाड़ी गैंगरेप: आरोपियों ने घबराकर बुलाया था डॉक्टर, पीड़िता की मां ने मुआवजा लेने से किया इंकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 September 2018, 11:12 IST

Rewari Gangrape case: हरियाणा के रेवाड़ी में सीबीएसई टॉपर 19 साल की छात्रा के साथ हुए गैंगरेप के मामले में नया खुलासा हुआ है. छात्रा की हालत खराब होने पर रेप करने वाले आरोपी लड़के घबरा गए और उन्होंने डॉक्टर को बुलाया.

पीड़िता छात्रा ने बताया कि लड़कों ने उसे पीने के लिए पानी दिया, जिसमें नशीला पदार्थ मिला था और तब तक वे बारी-बारी से उसके साथ दुष्कर्म करते रहे जब तक उसे होश नहीं आ गया. छात्रा ने बताया कि होश आने पर उसने अपने आसपास करीब 8-10 लोगों को देखा था. जबकि पुलिस ने एफआईआर 3 लोगों के खिलाफ दर्ज की गई है.

इसी बीच पीड़िता की माँ ने कहा कि "कल कुछ अधिकारी मेरे घर मुआवजे के लिए चेक देने आए थे. मैं आज इसे वापस कर रही हूं, क्योंकि हम न्याय चाहते हैं पैसा नहीं.  5 दिन के बाद भी किसी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया है."

''द टाइम्स ऑफ इंडिया'' की खबर के मुताबिक, आरोपी लड़कों के बुलाने पर डॉक्टर जब वहां पहुंचे तो लड़की का ब्लड प्रेशर बहुत लो था. नया गांव के एक स्थानीय निवासी ने कहा कि डॉक्टर ने उन लड़कों को बताया था कि वह मर सकती है क्योंकि उसका सिस्टोलिक प्रेशर केवल 50 था.

डॉक्टर की बात सुनकर आरोपियों ने छात्रा को जाने देने का फैसला किया और उसे 40 किलोमीटर दूर महेंद्रगढ़ में कनीना बस अड्डे पर वापस ले गए, जहां से सुबह उसका अपहरण किया था. एफआईआर में दर्ज तीन में से एक आरोपी मनीष ने छात्रा के पिता को फोन कर उसे बस अड्डे से ले जाने के लिए भी कहा.

पुलिस ने स्थानीय क्लीनिक चलाने वाले एक डॉक्टर को हिरासत में लिया है, जिसे आरोपी युवकों ने 12 सितंबर को दुष्कर्म के बाद पीड़िता की हालत खराब होने पर बुलाया था. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि क्लीनिक चलाने वाले व्यक्ति ने पीड़िता को प्राथमिक उपचार दिया था. उसके बाद आरोपियों ने उसे धमकाया था.

गौरतलब है कि रेवाड़ी गैंग रेप मामले में हरियाणा पुलिस ने तीन आरोपियों की तस्वीर जारी की है. तीन आरोपियों में मनीष, निशु और पंकज है, जिसमें पंकज आर्मी का जवान है. और अभी तक कोई गिरफ़्तारी नहीं हुई है. आरोपी पीड़िता के गांव के ही रहने वाले हैं. कोचिंग से लौटते समय यह घटना हुई. आरोपियों ने उसे लिफ्ट देने के बहाने कनीना बस अड्डे से अगवा कर लिया और नशीला पेय पदार्थ पिलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया.  

First published: 16 September 2018, 11:12 IST
 
अगली कहानी