Home » हरियाणा » Unique Village Gulyana of Kaithal District in Haryana where dream of youth to go in Army Services
 

भारतीय सेना में बजता है इस गांव के युवाओं का डंका, ये हैं नियम-कायदे

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2018, 16:12 IST

हरियाणा के कैथल में एक ऐसा गांव है. जहां के बच्चे बड़े होकर सेना में भर्ती होना पसंद करते हैं. इसी के चलते इस गांव के हर घर में एक सरकारी नौकर जरूर मिल जाएगा. ये गांव कैथल जिला मुख्यालय से 28 किलोमीटर दूर स्थित है. इस गांव का नाम है गुलियाणा.

गुलियाणा के युवाओं में सरकारी नौकरी की ऐसी चाह है कि आसपास के गांव के युवा भी इनसे प्रेरित होकर सेना में या सरकारी नौकरी में जाने की तैयारियों में लगे हैं. इस गांव में पिछले 6 साल में लगभग 250 से ज्यादा युवाओं ने सरकारी नौकरियां हासिल की हैं.

इस गांव के युवाओं को ये सब यूं ही नहीं मिल गया. बल्कि इस गांव लागू सख्त नियमों की बदौलत ऐसा संभव हुआ है. गुलियाना हरिणाया का एक ऐसा गांव है जहां डीजे पर पूरी तरह से पाबंदी है. यही नहीं इस गांव में शराब की बिक्री पर भी पूरी तरह से रोक लगी हुई है.

ये सब किसी सरकारी कानून के तहत नहीं हुआ. बल्कि गांव के लोगों ने अपने बच्चों के भविष्य के लिए ऐसा नियम बनाए. जिससे गांव का हर युवा तरक्की कर सके. इस गांव में कोई शराब पीकर हुड़दंग नहीं कर सकता. इस गांव में दो बोतल से अधिक शराब लेकर आने वाले पर 11 हजार रुपये जुर्माना लगाया जाता है. इसीलिए अब तक यहां दर्जनभर लोग जुर्माना दे चुके हैं.

इस गांव के युवाओं को सेना में शामिल हो चुके गांव के ही युवा ट्रेनिंग देते हैं. गांव की खाली पड़ी जमीन पर 24 घंटे हर मौसम में युवाओं को कड़ी ट्रेनिंग दी जाती है. जहां हर रोज 300 से अधिक युवा ट्रेनिंग लेते हैं. इस गांव के युवा भारतीय सेना, एयरफोर्स, नेवी, बीएसएफ, हरियाणा, दिल्ली व चंडीगढ़ पुलिस सहित कई विभागों में नौकरी कर रहे हैं. पूरे गांव में करीब 1200 परिवार हैं, जिसमें से आज 700 से अधिक परिवारों में सरकारी नौकर हैं.

यहां के युवाओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में भी मदद की जाती है. इसके लिए युवा क्लब व जयहिंद क्लब बनाया गया है. जिससे ये फायदा हुआ कि कोई भी भर्ती ऐसी नहीं जाती, जिसमें गांव के युवाओं का सिलेक्शन न होता हो

ये भी पढ़ें- सबसे ज्यादा खामोश रहते हैं इस देश के लोग, दुनिया में बजता है इनकी क्रिएटिविटी का डंका

First published: 23 June 2018, 16:12 IST
 
अगली कहानी