Home » हेल्थ केयर टिप्स » Be careful eating roti health
 

रोटी ज्यादा खाने वाले हो जाएं सावधान, इससे होता है सेहत को नुकसान

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 March 2019, 13:11 IST

रोटी एक ऐसा आहार है, जिसे लोग रोजाना खाते हैं. रोटी और चावल रोजाना खाने से लोग कभी नहीं उबते. रोटी पौष्टिक तत्वों से भरपूर होता है. इसलिए इसे मुख्य आहार माना जाता है, लेकिन कुछ लोगों को रोटी खाना भी सेहत के लिए नुकसानदायक होता है.

जिन लोगों के शरीर में ऑक्सालेट की मात्रा जरूरत से ज्यादा मौजूद होता है. उन्हें रोटी से दूर रहना चाहिए. क्योंकि रोटी में ऑक्सालेट की मात्रा ज्यादा होती है और इसलिए हम इसका रोजाना सेवन करते हैं, लेकिन यदि ऑक्सालेट की मात्रा शरीर में ज्यादा हो जाती है, जो ये हमारी सेहत को हानि पहुंचाता है. जिसके कारण बहुत सी बीमारियां हो जाती है.बहुत सारी बीमारियां भी उत्पन्न होती है.

बहुत से लोग बासी रोटी खाने को लेकर भी काफी भ्रमित होते हैं कि ये सेहत के लिए फायदेमंद है या फिर नुकसानदायक. इसका जवाब ये है कि बासी रोटी कुछ लोगों के लिए फायदेमंद होती है, तो वहीं कुछ लोगों के लिए नुकसान दायक भी.

जिन लोगों का शरीर हर तरह के भोजन को पचाने की क्षमता रखता हो. उनके लिए रोटी काफी फायदेमंद साबित होती है और जिन लोगों की पाचन क्रिया ठीक नहीं रहता उनके लिए बासी रोटी नुकसानदायक होती है. क्योंकि यदि भोजन नहीं पचे तो तरह-तरह की बीमारियां होती हैं.

जिन लोगों का शरीर कमजोर होता है अगर वे लोग बासी रोटी खाते हैं तो ऐसे लोग फूड-पाइजन के शिकार हो जाते हैं.  फूड पाइजन बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता है. इसमें लोगों की जान भी जा सकती है और बहुत लोग इतना कमजोर हो जाते हैं कि उन लोगों से कोई भी काम सही तरीके से नहीं हो पाती. और बासी रोटी खाने से तरह-तरह के पेट की बीमारियां उत्पन्न होने लगती है और पेट में बहुत ही ज्यादा दर्द होने लगता है.

यदि आप बासी रोटी का सेवन करते हैं तो आपको अंदर ही अंदर हल्का बुखार हमेशा रहता ही है, जो कि आपके शरीर को पूरी तरह कमजोर कर देगा.

बासी रोटी का सेवन फ्रिज में रख कर ही करें. क्योंकि बासी रोटी को अगर बाहर छोड़ देने पर उसमें ऐसे बैक्टीरिया उत्पन्न होते हैं जो कि सेहत के लिए बहुत ही खतरनाक साबित होते हैं जो कि पेट से संबंधित बीमारियों को उत्पन्न करते हैं.

बढ़ते वजन को करना है कम और पाचन तंत्र को रखना है मजबूत तो रोजाना खाएं ये फल

First published: 9 March 2019, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी