Home » हेल्थ केयर टिप्स » Benefits of eating ghee on chapati roti phulk
 

रोटी में घी लगाकर खाने से होते हैं कई जबरदस्त फायदे, मोटापे से लेकर इन 4 बीमारियों के लिए हैं रामबाण

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 May 2019, 13:11 IST

शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए हेल्दी खाने की बेहद जदरूरत होती है. लेकिन आज के भागते-दौड़ते लाइफ स्टाइल के चलते लोग हेल्दी खाना भूल गए हैं.

भागते दौड़ते लाइफ स्टाइल के चलते लोग तेल से युक्त खाना खाना पसंद करते हैं. वहीं, बहुत से लोग ऐसे हैं, जो घी की जगह रिफाइंड ऑयल का इस्तेमाल करते हैं, इन लोगों को इस बात का भ्रम होता है कि घी खाने से मोटापा बढ़ता है. लेकिन आपको बता दें कि रिफायंड ऑयल की तुलना में घी खाना सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है.

पुराने समय में लोग घी से बनी हुई चीजें खाना पसंद करते थे. घी युक्त भोजन सेहत के लिए काफी फायदे मंद होता है. इसमें मौजूद पोषक तत्व शरीर की कई गंभीर बीमारियों को दूर करता है. चलिए जानते हैं घी खाने से क्या-क्या असरकारी फायदे होते हैं-

मोटापा

यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो घी लगी रोटी खाना बंद ना करें. बल्कि आज से घी चुपड़ी रोटी खाना शुरू कर दें. घी लगी रोटी में सीएलए होता है, जो मेटाबॉलिज्म को एक्टिव रखता है. इससे हमारा वजन तेजी से घटता है. 

खीरा खाने के बाद गलती से भी इस चीज का ना करें सेवन, वरना ये आपके लिए बन सकता है जहर

दिल की बीमारी

घी लगी रोटी दिल के मरीजों को खाना बेहद ही फायदेमंद होता है. घी लगी रोट खाने से हार्ट में होने वाली ब्लाकेज रुकती है. रोटी में घी लगाकर खाने से ये हमारे शरीर के लिए ल्यूब्रिकेंट्स की तरह हार्ट और ब्लड वेसल्स के काम को सुचारू रखने में सहायक होता है. 

कॉलेस्ट्रॉल को रखे कम

घी लगी रोटी खाने से ब्लड और आंतों में मौज़ूद कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होता है, क्योंकि इससे बाइलरी लिपिड का स्राव बढ़ने लगता है. इससे शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल घटाता है और गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ाता है.

भूखे पेट खा लिया ये खाना, तो डॉक्टर को चुकाना पड़ सकता है भारी हर्जाना

कॉलेस्ट्रॉल को रखे कम

घी लगी रोटी खाने से ब्लड और आंतों में मौज़ूद कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होता है, क्योंकि इससे बाइलरी लिपिड का स्राव बढ़ने लगता है. इससे शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल घटाता है और गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ाता है.

भूखे पेट खा लिया ये खाना, तो डॉक्टर को चुकाना पड़ सकता है भारी हर्जाना

First published: 31 May 2019, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी