Home » हेल्थ केयर टिप्स » corona dangerous and deadliest virus in the world
 

कोरोना से पहले दुनियाभर में इन वायरस ने मचाई थी तबाही, देखिए लिस्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 March 2020, 16:11 IST

दुनिया भर में कोरोना वायरस ने तबाही मचा रखी है. इस वायरस के खौफ के चलते देश में कर्फ्यू जैसे हालात बने हुए हैं. अब तक इस वायरस से पूरी दुनियां में सैकड़ों लोगों की जान जा चुकी है. तो वहीं लाखों की संख्या में लोग इस संक्रमण से संक्रमित हैं. कोरोना वायरस के बीच चलिए बताते हैं आपको दुनिया के अब तक के उन 10 खतरनाक वायरस के बारे में जिन्होंने या तो देश-दुनिया में हड़कंप मचाया या कई लोगों की जान ली.

रोटा वायरस-
रोटा वायरस बच्चों में होने वाला वायरस है. जिसे चाइल्ड वायरस भी कहते हैं. इससे दुनियाभर में हर साल तकरीबन 5 लाख बच्चों की जान जाती है. ये वायरस बच्चों में डायरिया की तरह फैलता है. जिससे कई बार बच्चों की जान चली जाती है. 6 से 8 साल के बच्चों रोटा वायरस होने की संभावना ज्यादा होती है.


चेचक-
चेचक ये ऐसा वायरस है जिसने दुनियाभर में तकरीबन 30 से 50 करोड़ लोगों की जाने ले चुका है. इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति 3 से 6 लोगों को संक्रमित करता है. हालांकि वैक्सीन के जरीए अब इस वायरस को पूरी दुनिया से तकरीबन खत्म किया जा चुका है.

मीजल्स-
मीजल्स वायरस को आम भाषा में खसरा कहा जाता हा. पिछले 150 साल में करीब 20 करोड़ लोगों की जान ले चुका है. ये वायरस हर साल करीब दो लाख लोगों की जान लेता था. लेकिन वैक्सीन के जरीए अब इस वायरस को खत्म कर दिया गया है.

डेंगू-
डेंगू ये वायरस मच्छर के काटने से फैलता है. ये वायरस दुनिया के 110 देशों में पाया गया था. ये वायरस तकरीबन 10 करोड़ लोगों को इंफेक्ट करता है. जिससे हजारों की संख्या में लोगों की मौत हो जाती है.

गर्मियों में नहीं होना चाहते गंभीर बीमार तो रात में न खाएं ये चीज, हो जाएंगी कई बीमारियां

येलो फीवर-
जब किसी व्यक्ति की नाक, आंख, मुंह और पेट से खून आने लगता है. इस वायरस की स्थिति बहुत ही गंभीर होती है. इस स्थिति में पहुंचने के लिए मरीजों में से 50 प्रतिशत व्यक्ति महज एक ही हफ्ते में जान चली जाती है. आज भी ये वायरस दुनियाभर में करीब 2 लाख लोगों को इंफेक्ट करता है जिससे 30 हजार लोगों की जान जाती है.

फ्लू-
फ्लू के कारण भी हरह साल 5 लाख लोगों की जान जाती है. सबसे खतरनाक फ्लू पैंडिमिक माना जाता है. इस फ्लू से 5 से 10 करोड़ लोगों की जान गई थी.

रेबीज-
रेबीज को पुराने वक्त से ही बहुत ज्यादा खतरनाक बीमारी माना जाता है. ये बीमारी कुत्ते या चमगादड़ गड़ाने से होती है. इस बीमारी से भी हर साल 60 हजार लोगों की मौत हो जाती है.

 कोरोना वायरस से बचाव के लिए अपनाएं ये तरीका, अमेरिकी शोधकर्ता ने किया इजाद

हेपेटाइटिस-बी ऐंड सी
हेपेटाइटिस-बी हर साल करीब सात लाख लोगों की जान ले लेती है. ये बीमारी लीवर पर अटैक करती है. जिससे लीवर डैमेज हो जाता है. इस बीमारी से लीवर डैमेज पर्मानेंट होता है जिसे इलाज से ठीक नहीं किया जाता है. इस बीमारी से हर साल दुनियाभर में तकरीबन साढ़े तीन लाख लोगों की मौत होती है.

इबोला-
इसे दुनिया का सबसे खतरनाक वायरस माना जाता है. क्योंकि इसकी कोई अभी पुख्ता वैक्सीन नहीं बनी है. इस वायरस की फैटेलिटी रेट 90 प्रतिशत तक है.

कब तक खत्म होगा कोरोना वायरस? WHO ने दिया ये जवाब

HIV_
दुनियाभर में तकरीबन 4 करोड़ लोग एचआईवी से पीड़ित है. इस बीमारी से अब तक तकरीबन ढ़ाई करोड़ लोग मर चुके हैं.

First published: 30 March 2020, 16:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी