Home » हेल्थ केयर टिप्स » country's first modern orthopedic operation theater in AIIMS
 

अब इस गंभीर बीमारी का AIIMS में हो सकेगा इलाज, मॉर्डन तकनीक का किया जाएगा इस्तेमाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2019, 10:33 IST

रीढ़ की हड्डी और नॉर्मल हड्डी के कैंसर का इलाज करवाने के लिए देश के बाहर जाना पड़ता था, लेकिन अब आपको इसके इलाज के लिए मोटे पैसे खर्च करने की जरूरत नहीं है. यानि अब आप रीढ़ की हड्डी का इलाज अपने देश में ही कर सकते हैं. जी, हां अब स्क्योलियोसिस और हड्डी के कैंसर जैसी बीमारी का इलाज हमारे देश में हो सकता है.

 

जानकारी अनुसार, स्क्योलियोसिस और हड्डी के कैंसर जैसी बीमारी का इलाज अब एम्स में भी संभव होगा. बताया जा रहा है कि इंटरनेशनल स्तर पर एम्स अस्पताल में ऑपरेशन थिएटर बनाया गया है. ये ऑपरेशन थिएटर मॉडर्न तकनीकी से लैस है. इसके साथ ही इसमें रोबॉट, इंट्रा ऑपरेटिव सीटी, सीआर्म, ओआर्म, नर्व ऑपरेटिंग इक्विपमेंट के सातों ऑपरेशन थिएटर भी मौजूद हैं. इस ऑपरेशन थिएटर में 25 से 30 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं. आम लोगों के लिए ये अस्पताल अगले सप्ताह से खुलेगा.

पढ़ें ये भी- शुगर लेवल को करना है कंट्रोल तो किचन में रखी इस छोटी सी चीज का करें इस्तेमाल

AIIMS के ऑर्थोपेडिक डिपार्टमेंट के HOD डॉक्टर राजेश मल्होत्रा ने इसके बारे में कहा,"एम्स अस्पताल देश ही नहीं बल्कि दुनियाभर में बेहतर इलाज के लिए जाना जाता है. इस विश्वास और लोगों को इलाज में सहायता करने के लिए इसी कड़ी में ऑर्थोपेडिक विभाग में 7 नए ऑपरेशन थिएटर बनाए गए हैं. अब दुनिया भर में स्पाइन और बोन कैंसर से जुड़ा जो भी इलाज संभव है, वह सब एम्स में उपलब्ध होगा.

इस तकनीक के आने के बाद रिजल्ट और भी बेहतर होंगे. जबकि अभी तक लोगों को ऐसे इलाज के लिए विदेशों का सहारा लेना पड़ता था. दिल्ली में किसी प्राइवेट अस्पताल में भी ऐसी तकनीक नहीं है, जो एम्स में आ चुकी है." यानि ये देश का पहला सबसे बेस्ट और मॉडर्न ऑर्थोपेडिक ऑपरेशन थिएटर है. इसके शुरू होने पर स्क्योलोसिस जैसी बीमारी के इलाज में वेटिंग आधी हो सकती है.

First published: 6 February 2019, 15:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी