Home » हेल्थ केयर टिप्स » Diwali 2018: These desserts are most commonly adulterate in Diwali Identify, it may like poison
 

दिवाली पर पैसे देकर मिठाई नहीं...जहर खरीद लाए लोग, आपने कौन सी खाई !

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 November 2018, 18:07 IST

दिवाली देश भर में धूम-धाम से मनाई गई. दिवाली पर खास तौर से लोग एक दूसरे से मिलने और मिठाई बांटने जाते हैं और खुद भी मिठाई के स्वाद का आनंद लेते हैं. लेकिन मिठाई की मांग अधिक होने से इसमें जमकर मिलावट की जाती है और ये मिठाइयां जहर से कम नहीं होती.

ये मिठाई स्वास्थ्य के लिए गंभीर खतरा पैदा करने के साथ-साथ किडनी फेल्यर और हार्ट-अटैक जैसी जानलेवा मर्ज भी दे जाती है. लोग पैसे देकर बाजार से गुलाब जामुन, बर्फी, मिल्क केक और खोआ से बनी मिठाइयां खरीदते हैं जिनमें ज्यादातर मिलावट की शिकार होती हैं. मिठाई को अच्छे से जांच-परख कर ख़रीदना और खाना चाहिए.

सिंथेटिक दूध और खोए से बनी मिठाई में मुख्य तौर पर दो चीजों की मिलावट की जाती है. खोआ में स्टॉर्च मिलाया जाता है जबकि दूध का प्रोटीन कंटेंट बढ़ाने के लिए यूरिया की मिलावट की जाती है. ये दोनों हानिकारक तत्व हमारे सेहत के लिए खतरनाक होते हैं. इसके अलावा हानिकारक रंगों का भी प्रयोग किया जाता है.

ऐसे करें जांच

घर बैठे मिलावटी खोआ और उससे बनी मिठाई, सिंथेटिक दूध, पनीर और की जांच कर सकते हैं. स्टॉर्च और यूरिया की जांच के लिए थोड़ा सा आयोडीन सॉल्यूशन लें जो कि किसी भी केमिस्ट की दुकान में आसानी से मिल जाएगा. इसके अलावा आप एमिनो बेनजलडीहाइड से भी इसकी जांच कर सकते हैं इसका सॉल्यूशन भी आपको केमिकल शॉप में मिल जाएगा.

 

पनीर, दूध-खोए में ऐसे पहचाने मिलावट

एक कांच के कटोरे में थोड़े से पनीर या मिठाई को गुनगुने पानी में पूरी तरह घुलने दें, जब पनीर और खोए की मिठाई पानी में पूरी तरह घुल जाए तो उसमें 4 -5 ड्रॉप आयोडीन सॉल्यूशन मिला दें यही प्रक्रिया दूध के साथ भी करें. आयोडीन मिलाने के बाद अगर दूध, पनीर या खोए की मिठाई के घोल का रंग नीला हो जाए तो समझिए ये मिलावटी और जानलेवा है. अगर इस मिश्रण का रंग नहीं बदलता है तो इसका मतलब है कि ये शुद्ध है और निश्चिंत होकर इसे खा सकते हैं.

दूध में मिलाया जाता है यूरिया

यूरिया अक्सर सिंथेटिक दूध में मिलाया जाता है और उस दूध से बने पनीर या खोए में भी यूरिया की मात्रा होती है. इसकी जांच करने के लिए पनीर या खोए को गरम पानी में घोलकर उसमें कुछ ड्रॉप पराडीमेथील एमिनो बेनजलडीहाइड की मिला दें. अगर इसमें यूरिया की मात्रा होगी तो घोल का रंग पीला हो जाएगा. इस आसान तरीके से घर बैठे बिना दूध, पनीर या खोए की मिठाई की शुद्धता जाँच सकते हैं.

First published: 9 November 2018, 18:07 IST
 
अगली कहानी