Home » हेल्थ केयर टिप्स » eating fried chicken and fish increase the risk of early death in women study
 

ये तली हुई चीजें खाने से आपकी हो सकती है जल्दी मौत, शोध में हुआ खुलासा

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 March 2019, 14:10 IST

 यदि आपको फ्राई चिकन और फिश खाना बहुत ज्यादा पंसद हैं, जो सतर्क हो जाएं. क्योंकि आपकी ये पसंद आपके जीवन के लिए खतरा बन सकता है. जी हां ये हम नहीं कह रहे, बल्कि U.S में मेनॉपॉज के एक स्टडी में बताया गया है. ये स्टडी महिलाओं पर हुई है.

इस स्टडी की रिपोर्ट में बताया गया है कि रोजाना फ्राई मछली और चिकन खाने वाली महिलाओं की तुलना में दूसरी महिलाओं में मौत का खतरा 13 फीसदी कम होता है.

 

ये स्टडी ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित हुई है. इस शोध के मुताबिक, तली हुई मछली हो या फिर चिकन या फिर कोई दूसरी तली हुई चीजें सभी आपके जीवन के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकता है. रिसर्च के मुताबिक, तली हुई चीज खाने से फैट एब्जॉर्ब होती है. वहीं, तलने के बाद ज्यादा क्रंची चीजें खाने से चीजें खाने से कई बीमारियों की गिरफ्त में आ जाते हैं.

इससे पहले भी कई स्टडी हो चुकी है. इस स्टडिज में साबित हो चुका है कि तली हुई चीजों का ज्यादा सेवन करने से टाइप 2 डायबिटीज और दिल की समस्या होने का ज्यादा खतरा होता है. लेकिन ये पहली स्टडी है, जिसमें तली हुई चीजों को खाने से मौत का खतरा होता है ये बताया गया है.

लहसुन और प्याज खाने से कम हो जाता है इन बीमारयों का खतरा, आज से ही करें खाने की शुरुआत

इस नई स्टडी में शोधकर्ताओं की टीम ने लगभग 107,000 महिलाओं को शामिल किया, जिसमें 50 से 79 वर्ष की उम्र की महिलाएं शामिल थी. स्टडी में इन महिलाओं के खाने की आदतों की जांच की गई. इसमें इन महिलाओं से पूछा गया कि वो किन चीजों का कितना सेवन करते हैं.

लहसुन और प्याज खाने से कम हो जाता है इन बीमारयों का खतरा, आज से ही करें खाने की शुरुआत

इस स्टडी के रिजल्ट काफी चौंकाने वाले आए. इसमें देखा गया कि जो महिलाएं तली हुई चीजें ज्यादा खाती हैं. उनमें मौत का खतरा ज्यादा होता है. स्टडी की रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ कि तली हुई चिकन खाने से जल्दी मौत होने का खतरा 13 प्रतिशत तक बढ़ता है. इसी के साथ दिल की बीमारी का खतरा 12 फीसदी तक अधिक होता है.

लहसुन और प्याज खाने से कम हो जाता है इन बीमारयों का खतरा, आज से ही करें खाने की शुरुआत

First published: 30 March 2019, 14:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी