Home » हेल्थ केयर टिप्स » Eating junk food can increase the risk of depression
 

स्टडी में हुआ चौंका देने वाला खुलासा, ऐसे फूड खाने वाले डिप्रेशन के हो जाते हैं शिकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 March 2019, 17:10 IST

जंक फूड ज्यादातर बच्चे खाना पसंद करते हैं. स्टडी में जंक फूड को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. इंटरनेशनल जर्नल ऑफ फूड साइंस एंड न्यूट्रिशन में प्रकाशित में प्रकाशित स्टडी के मुताबिक, जो लोग ज्यादा जंग फूड खाते हैं, वे लोग डिप्रेशन के जल्दी शिकर हो जाते हैं.

इस स्टडी में बताया गया है कि जंक फूड खाने से बाइपोलर डिसऑर्डर और डिप्रेशन होने का खतरा अन्य की तुलना में काफी बढ़ता है. इस स्टडी में रिसर्चर्स ने करबी 2, 40,000 से ज्यादा लोगों के डेटा की जांच की है. इस स्टडी में पाया गया कि जंक फूड खाने से सिर्फ मेटाबॉलिज्म को ही नुकसान नहीं पहुंचता है, बल्कि इससे मानसिक समस्याएं भी होती हैं, जिसमें- बाइपोलर डिसऑर्डर और डिप्रेशन का ज्यादा खतरा होता है.

इस स्टडी के मुताबिक, ज्यादा शुगर युक्त चीजें खाने से बाइपोलर डिसऑर्डर का खतरा बढ़ता है. वहीं, जंक फूड खाने से डिप्रेशन का खतरा बढ़ता है.

सावधान! इस ब्लड ग्रुप के लोगों का पीछा नहीं छोड़ते मच्छर, पढ़ें पूरी खबर

इस स्टडी के मुख्य लेखक और कैलिफोर्निया की लोमा लिंडा यूनिवर्सिटी के एसोसिएट प्रोफेसर जिम ई बनता ने कहा, "हमें इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि डाइट का मानसिक सेहत पर क्या असर पड़ता है. मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए एक हेल्दी डाइट फॉलो करना जरूरी है."

उन्होंने आगे कहा, "अभी इस बात की पूरी तरह से पुष्टि करने के लिए कुछ ओर रिसर्च करना बाकी है. लेकिन नई स्टडी के नतीजों के आधार पर कहा जा सकता है कि जंक फूड के सेवन से डिप्रेशन का खतरा बढ़ता है."

इन लक्षणों को ना करें इग्नोर वरना इस गंभीर समस्या से पड़ सकता है पाला

First published: 28 March 2019, 17:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी