Home » हेल्थ केयर टिप्स » Eating potato paratha can reduce memory
 

आलू का पराठा अगर आपका है फेवरेट तो हो जाएं सतर्क, जा सकती है याददाश्त

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 October 2019, 13:10 IST

आलू के पराठे एक ऐसी डिश है जो अधिकत्तर लोगों की पसंदीदा होता है. इसे बच्चों से लेकर बड़े तक हर उम्र के व्यक्तियों को खास पसंद है. मुख्य रूप से पंजाब और उत्तरी भारत में तो ये बहुत फेमस है. आलू के पराठे को स्वास्थ्यवर्धक माना जाता है. लेकिन इसके कई नुकसान भी है. 

आलू का पराठा आसानी से बनकर तैयार तैयार हो जाता है. यह शरीर को प्रोटीन एवं कोलेस्ट्रॉल की उचित मात्रा प्रदान करता है. लेकिन इस शरीर को प्रोटीन और कोलेस्ट्रॉल की उचित मात्रा प्रदान करता है. लेकिन इन पराठों में स्टार्च,पोटेशियम,मैग्नीशियम,आयरन,फास्फोरस,विटामिन्स,प्रोटीन,कार्बोहाइड्रेड आदि भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. लेकिन इनका ज्यादा प्रभाव हमारे दिमाग पर बुरा असर डालते हैं.

 

इसी के साथ आलू के पराठे ज्यादा खाने से पेट में गैस की परेशानी हो जाती है. इसमें शामिल स्टार्च गैस के दर्द को बड़ा सकता है. इसके चलते शरीर में गैस की मात्रा बढ़ जाती है और गैस दिमाग में चढ़ जाती है. जिसके चलते आपको चक्कर के साथ व्यक्ति बेहोश भी हो सकता है.

इसी के साथ इसका ज्यादा सेवन करने से शरीर में खून का संतुलन भी बिगड़ जाता है.जो दिमाग में बुरा असर डालता है. इसी के साथ अनुचित इसका सेवन करने से पेट में गड़बड़ी, मोटापा और उल्टी-दस्त जैसी बीमारियां भी उत्पन्न कर सकता है.

वजन घटाने के लिए ये है दुनिया का सबसे ताकतवर फल, खाते ही आइसक्रीम जैसी पिघलने लगेगी चर्बी

रिसर्च के मुताबिक ग्लाइसिमिक मील माना जाता है, अथार्त इसके सेवन से मस्तिष्क में इन्सुलिन की मात्रा बढ़ सकती है जो दिमाग पर विपरीत प्रभाव डाल सकती है. इसी के इससे याददाश्त भी कमजोर कर सकती है.

इन हरी सब्जियों से बना ले कोसों की दूरी, वरना हो जाएंगे ट्यूमर और कैंसर के मरीज

First published: 7 October 2019, 16:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी