Home » हेल्थ केयर टिप्स » eating snacks while watching tv can make you a victim of metabolic syndrome symptoms
 

TV देखने के साथ स्नैक्स खाने वालें हो जाएं सावधान, इन गंभीर बीमारियों के हो सकते हैं शिकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 March 2019, 9:11 IST

यदि आप टीवी देखने के साथ साथ स्नैक्स का लुफ्ट उठाना पसंद करते हैं, तो आप ये आदत जल्द ही बदल लीजिए. क्योंकि आपकी ये आदत आपको गंभीर बीमारियों का शिकार बना सकती है. ऐसी आदत खासतौर पर किशोरावस्था के लोगों में ज्यादा होता है.

रिसर्च के मुताबिक, बच्चों के शरीर में मेटाबोलिक सिंड्रोम का खतरा ज्यादा देखने को मिल रहा है, इसका कारण बच्चे टीवी देखते समय स्नैक्स का ज्यादा सेवन करते हैं. ये स्टडी 12 से 17 साल की उम्र के 33,900 टीन एजर्स के साथ की गई.

रिसर्च में पका चला है कि मेटाबोलिक सिंड्रोम के कारण बच्चों में हाई ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर बढ़ने, कोलेस्ट्रॉल बढ़ना और कमर की चर्बी बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है.

क्या है मेटाबॉलिक सिंड्रोम?

मेटाबॉलिक सिंड्रोम बीमारी नहीं है. ये शरीर में एक साथ कई बीमारियों के होने के कारण हो सकता है. हाई ब्लड प्रेसर,  कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा का बढ़ना, शुगर की परेशानी और अधिक मोटापा ये सभी बीमारियां मिलकर मेटाबॉलिक सिंड्रोम का कारण बनती हैं.

बैड कोलेस्‍ट्रॉल

टीवी देखते-देखते स्नैक्स खाने की आदत वालों के खून में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है. अगर आपके ब्लड में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा 150 मिग्रा/डेलि है, तो आपको मेटाबॉलिक सिंड्रोम होने का खतरा काफी बढ़ हो जाता है.

हाई ब्लड प्रेशर

मेटाबॉलिक सिंड्रोम का खतरा सबसे ज्यादा हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को होता है. नॉर्मल व्‍यक्ति का ब्लड प्रेशर 120/80 होता है. व्यक्ति में अगर सामान्य स्तर से अधिक ब्लड प्रेशर होता है, तो मेटाबॉलिक सिंड्रोम होने का खतरा बढ़ सकता है.

शुगर

शरीर में अगर शुगर की मात्रा 100 से अधिक है, तो आपको सतर्क हो जाना चाहिए. क्योंकि ये मेटाबॉलिक सिंड्रोम के खतरे की ओर इशारा करता है.

दुनिया में पहली बार हुआ ये कारनामा, जीवित Aids पीड़ित की किडनी दूसरे को लगाई

First published: 30 March 2019, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी