Home » हेल्थ केयर टिप्स » everything you need to know about the keto diet for good fitness
 

जानें कैसे बिना खाना छोड़े कम होता है वजन...

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 July 2017, 15:49 IST

स्‍टैंडअप कॉमेडियन तन्मय भट्ट के एक साल में 110 किलो वजन कम करने के बाद से कीटोजेनिक डाइट (Ketogenic diet) कुछ दिनों से काफी चर्चा में है. जहां इसके फायदे आसानी से दिख जाते हैं, वहीं नुकसान के बारे में किसी को जानकारी नहीं. अगर ठीक तरीके से इसे फॉलो नहीं किया गया, तो यह ख़तरनाक हो सकती है. हम बताते हैं कि कीटो डाइट होती क्या है...

क्‍या है kito diet.. ?

कीटो डाइट में बहुत ही कम कार्बोहाइड्रेट और हाई फैट डाइट ली जाती है, ताकि शरीर को Kitosis स्थिति में लाया जा सके, किटोसिस शरीर की ऐसी मेटाबॉलिज्म स्थिति है, जिसमें शरीर ब्लड ग्लूकोज (कार्बोहाइड्रेट) की बजाय फैट के टुकड़ों (कीटोन्स) को तोड़ कर एनर्जी के रूप में इस्तेमाल करता है. ये होता है जब आप पूूरे दिन में 40 ग्राम से भी कम कार्बोहाइड्रेट डाइट में लेते है. यहां तक कि आपका दिमाग भी फैट से मिली एनर्जी से चल रहा होता है.

जब अपने एक बार कीटोजेनिक आहार को चुन लिया, तब आपको हर वक़्त इसके मंत्र को याद रखना है. कोई कार्बोहाइड्रेट नहीं और न ही चीनी. मुख्‍य नियम करना होगा फॉलो हाई फैट,मध्यम प्रोटीन,और कम मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का सेवन मुख्य नियम है, कीटो डाइट का.

आपकी रोजाना जरूरत की 70 से 75 % कैलोरी फैट से लेनी चाहिए, 20 से 25 % कैलोरी प्रोटीन से और मात्र 5 से 10 % कैलोरी ही हमें कार्बोहाइड्रेट से लेनी चाहिए. क्योंकि फैट बहुत कम या कहें कि ना के बराबर ही हमारे इन्सुलिन लेवल और ब्लड शुगर को प्रभावित करता है. लेकिन यदि बड़ी मात्रा में प्रोटीन का सेवन किया जाये, तो वो इन्सुलिन और ब्लड शुगर को अस्थायी रूप से बढ़ा सकता है और बढ़ा हुआ इन्सुलिन लेवल आपके द्वारा फैट बर्न को बंद कर देगा और आपकी बॉडी ketosis की स्थिति से बाहर आ जाएगी.

टेस्टोस्टेरोन हार्मोन्स और हाई फैट डाइट के बीच गहरा सम्बन्ध है. यदि आप हाई फैट वाली डाइट लेते हैं, तो आप का टेस्टोस्टेरोन हार्मोन्स लेवल उच्च स्तर पर रहेगा और आप आसानी से फैट लूज़ करने के साथ-साथ मसल गेन कर सकेंगे. एक्‍सपर्ट की देखरेख में कीटो डायट केवल कुछ समय तक ही करनी चाहिए. इसी तरह यह डायट शुरू करने से पहले भी डायट में कुछ बदलाव करने पड़ते हैं. इस डाइट से काफी हद तक वेट लॉस किया जा सकता है. 

भूख लगनी भी बंद

इसकी वजह से आपको कभी भी भूखा रहने वाली स्थिति का सामना नहीं करना पड़ता. दरअसल जब आपका शरीर कीटोसिस पर चला गया है, तब हमें बहुत ज्यादा भूख महसूस होना भी बिलकुल बंद हो जाता है.

कीटो डाइट का नुकसान

इससे आपके शरीर के गंध में बदलाव हो सकता है. इससे बचने का इकलौता तरीका यही है कि आप अधिक मात्रा में पानी पीते रहें. अपने साथ एक बोतल में नींबू का रस और नमक का घोल रखें.

First published: 18 July 2017, 15:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी