Home » हेल्थ केयर टिप्स » First case of monkeypox virus detected in Singapore know about this virus
 

यहां सामने आया जानलेवा मंकीपॉक्स वायरस का पहला मामला, जानिए क्यों खतरनाक है ये बीमारी

, कैच ब्यूरो | Updated on: 12 May 2019, 12:24 IST

दुनियाभर आए दिन कई तरह के जानलेवा वायरस और बीमारियों का पता चलता रहता है. ऐसा ही एक वायरल फिर से सामने आया है. जिसे मंकीकॉक्स वायरस नाम दिया गया है. मंकीपॉक्स का पहला मामला सिंगापुर में सामने आया है. खबरों के मुताबिक, एक नाइजीरियाई युवक इस दुर्लभ बीमारी को लेकर यहां पहुंचा है. वह एक शादी में गया था, जहां उसने बुशमीट खाया, जिससे वह इस खतरनाक वायरस का शिकार हो गया.

बता दें कि पालतू स्तनधारियों, सरीसृपों, उभयचरों और पक्षियों के मांस को बुशमीट कहा जाता है. इन सभी जीवों का इस्तेमाल उष्णकटिबंधीय जंगलों में भोजन के रूप में किया जाता है. यही नहीं मध्य और पश्चिमी अफ्रीका के कुछ इलाकों में तो मंकीपॉक्स महामारी का रूप ले चुका है. जब किसी को मंकीपॉक्स हो जाता है तो उसे आघात, बुखार, मांसपेशियों में दर्द और ठंड लगना शुरु हो जाती है. लेकिन इस बीमारी को जानलेवा नहीं माना जाता. हालांकि इसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता क्योंकि कुछ मामलों में यह खतरनाक भी साबित हो सकता है.

सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा है कि जो व्यक्ति यह वायरस लेकर आया, वह 28 अप्रैल को सिंगापुर पहुंचा था. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, 38 साल के इस शख्स में दो दिन बाद ही ऐसे लक्षण दिखाई देने लगे थे. फिलहाल उसे स्थिर हालत में एक संक्रामक रोग केंद्र में रखा गया है. मंत्रालय के मुताबिक, इस वायरस के फैलने का खतरा कम है लेकिन फिर भी स्वास्थ्य मंत्रालय सावधानी बरत रहा है.

घंटों मोबाइल और कम्प्यूटर का इस्तेमाल करने से हो सकती है आपको ये खतरनाक बीमारी

First published: 12 May 2019, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी