Home » हेल्थ केयर टिप्स » First time living Aids patient’s Kidney transplant to other HIV patient
 

दुनिया में पहली बार हुआ ये कारनामा, जीवित Aids पीड़ित की किडनी दूसरे को लगाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 March 2019, 10:11 IST

मेडिकल के क्षेत्र में पहली बार डॉक्टर्स की एक टीम को बड़ी सफलता मिली है. डॉक्टर्स की एक टीम ने अमेरिका में एक एड्स पीड़ित की किडनी दूसरे एड्स पीड़ित को ट्रांसप्लांट की है. दरअसल, अमेरिका राज्य मैरीलैंड के बाल्तीमोर शहर के जॉन हॉपकिंस अस्पताल के डॉक्टर्स की टीम ने एक 35 साल की एड्स पीड़ित महिला की किडनी दूसरे एड्स पीड़ित को प्रत्यारोपित की है. बता दें कि ये पहला मामला है जब किसी जीवित एड्स पीड़ित के अंग को दूसरे मरीज में प्रत्यारोपित किया गया है. इससे पहले मृत एड्स पीड़ित के ही अंगों का प्रत्यारोपण किया जा चुका है.

बता दें कि निना मार्टिनेज नाम की एक एड्स पीड़ित महिला ने किडनी डोनेट करनी की ये पहल की है. बता दें कि आमतौर पर एड्स पीड़ित के लिए एक किडनी पर जीना मुश्किल होता है, लेकिन निना का एचआईवी पूरी तरह नियंत्रित है और उनका शरीर एक किडनी पर काम करने में सक्षम है.

बीते सोमवार को जॉन हॉपकिंस अस्पताल के डॉक्टर्स की एक टीम ने निना की किडनी एक दूसरे एड्स पीड़ित मरीज के प्रत्यारोपित कर दी. बता दें कि डॉक्टर्स की इस टीम में भारतवंशी डॉक्टर नीरज देसाई प्रमुख थे. किडनी ट्रांसप्लांट के बाद दोनों स्वस्थ हैं.

किडनी डोनेट करने के बाद निना ने कहा कि उनकी बीमारी जानलेवा है. एक दौर था जब इससे पीड़ितों को मरने वाला माना जाता था, लेकिन आज किडनी दान कर उन्हें लगता है कि इस जानलेवा बीमारी से पीड़ित होने के बाद भी वह किसी को जीवनदान दे सकती हैं. बता दें कि निना जन्म के तुरंत बाद एचआईवी संक्रमित हो गई थीं.

जोड़ों के दर्द से सिर्फ दो मिनट में मिलेगा छुटकारा, ये है राहत पाने का तरीका

 

First published: 29 March 2019, 10:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी