Home » हेल्थ केयर टिप्स » Goa chief minister manohar parikar death pancreatic cancer
 

मनोहर पर्रिकर की पैंक्रियाटिक कैंसर ने ली जान, जानें क्यों है ये बीमारी इतनी गंभीर

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 March 2019, 12:11 IST

गोवा के मुख्यमंत्री और पूर्व केन्द्रीय रक्षा मंत्री का गंभीर बीमारी के कारण रविवार शाम निधन हो गया. मनोहर पर्रिकर लंबे समय से पैंक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे थे. ये कैंसर काफी गंभीर माना जाता है, इस बीमारी का शुरुआती स्टेज में पता नहीं चल पाता इसलिए इसे साइलेंट किलर भी कहते हैं.

पैंक्रियाटिक कैंसर का शुरुआती स्टेज में लक्षण सामने नहीं आता, इसलिए जब ये बीमारी गंभीर रूप ले लेती है. तब इस बीमारी का पता चलता है. इस बीमारी का लक्षण ज्यादातर केस में तब दिखाई देना शुरू होते हैं जब प्रभावित सेल्स काफी बड़े आकार के हो जाते हैं या फिर पैंक्रियाज के बाहर फैल चुके होते हैं. लास्ट स्टेज में इस बीमारी का पता लगने पर भले ही इसका उपचार शुरू कर दिया जाता है, लेकिन इससे पूरी तरह से ठीक होने की उम्मीद बहुत ही कम होती है.

कैसे होता है पैंक्रियाटिक कैंसर

बदलते लाइफस्टाइल के कारण पैंक्रियाटिक कैंसर के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. इस कैंसर का मुख्य कारण अनियमित जीवनशैली के अलावा अस्वस्थ और मिलावटी खानपान के चलते भी होता है. इसके साथ ही इस कैंसर का कारण शराब, धूम्रपान, रेड मीट और ज्यादा चर्बी वाली चीजें खाने से भी बढ़ता है. वहीं, कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि पैंक्रियाटिक कैंसर के पांच से 10 प्रतिशत केस वंशानुगत होते हैं. यानि परिवार में या फिर रिश्तेदारों में ये बीमारी किसी को हो, तो इसका खतरा ज्यादा होता है.

लक्षण

पैंक्रियाटिक कैंसर के शुरुआत में लक्षण नहीं दिखाई देता है. शुरुआत में जो इसके लक्षण दिखाई देते हैं, अन्य बीमारियों से मिलते-जुलते होते हैं. ऐसे में ज्यादातर मामलों में मरीज उन अन्य बीमारियों का ही इलाज करवाने लगता है, जिससे पैंक्रियाटिक कैंसर को शरीर में बढ़ने का मौका मिल जाता है.

  • अचानक वजन में कमी आ जाना
  • पेट और पीठ में दर्द बने रहना
  • पेल या ग्रे मल
  • पाचन संबंधी समस्या
  • भूख न लगना
  • बार-बार बुखार आना
  • हाई ब्लड शुगर
  • त्वचा का रूखापन बढ़ना
  • बेचैनी बने रहना या उल्टी होना
  • पीलिया

मनोहर पर्रिकर के निधन पर पूरे देश में राष्ट्रीय शोक, टली बोर्ड परीक्षाएं

First published: 18 March 2019, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी