Home » हेल्थ केयर टिप्स » Good News: Your smartphone now doctor, can monitor blood pressure, see how
 

जानिए कैसे आपका स्मार्टफोन नाप सकता है ब्लड प्रेशर

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 March 2018, 19:10 IST

सोचिए कितना अच्छा हो अगर आपका स्मार्टफोन एक डॉक्टर की तरह काम करे और जरूरत पड़ने पर आपका ब्लड प्रेशर नापकर तुरंत रिपोर्ट दे दे. अब ऐसा संभव हो चुका है क्योंकि भारतीय मूल के वैज्ञानिकों वाली एक टीम ने ऐसा स्मार्टफोन ऐप और हार्डवेयर उपकरण बनाया है जो बाजार में मौजूदा डिवाइसों से ज्यादा सटीक ढंग से ब्लड प्रेशर माप सकता है.

अमेरिका की मिशिगन स्टेट यूनिवर्सिटी की एक टीम ने इसके लिए एक ज्यादा आसान तरीका खोजा है. यूनिवर्सिटी के डॉक्टोरल स्टूडेंट आनंद चंद्रसेखर ने कहा, "हमनें इसके लिए एक दूसरी धमनी (आर्टरी) को निशाना बनाया, यह फिंगरटिप (अंगुली के सिरे) पर पाई जाने वाली पैल्मर आर्क आर्टरी है, जो सटीक माप पर बेहतर नियंत्रण देती है."

शोध के प्रमुख लेखक चंद्रसेखर ने कहा, "जब हमनें इस स्थान को मापा, तो काफी उत्साहित हो गए. अपनी अंगुली के इस्तेमाल से हमारी अप्रोच और ज्यादा आसान और पहुंच वाली हो गई." यह शोध साइंस ट्रांसलेशनल मेडिसिन जर्नल में प्रकाशित हुई है.

शोधकर्ताओं द्वारा बनाए गए उपकरण में दो सेंसर्स का इस्तेमाल किया जाता है. इसमें एक फोर्स सेंसर के ऊपर एक ऑप्टिकल सेंसर होता है. यह सेंसर यूनिट और अन्य सर्किट एक सेंटीमीटर मोटे छोटे से बॉक्स केस में रखे होते हैं, जो फोन के पिछले हिस्से में लगा दिए जाते हैं.

जब यूजर्स को ब्लड प्रेशर नापना होता है तो उन्हें यह ऐप चालू करने के बाद सेंसर यूनिट पर अपनी अंगुली की टिप रखनी होती है. अपनी अंगुली को इस यूनिट में रखने के बाद फोन को दिल के स्तर तक उठाना होता है और स्मार्टफोन की स्क्रीन पर देखना होता है कि वे यूनिट पर जरूरी दबाव डाल रहे हैं या नहीं.

यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रामकृष्ण मुक्कमल ने कहा, "यहां देखने वाली सबसे ज्यादा जरूरी बात यह है कि क्या यूजर्स निर्धारित समय तक अंगुली का सही दबाव बनाए रहते हैं. यह दबाव उतनी देर तक ही लगाना होता है जितनी देर में हाथ के जरिये रक्तचाप नापा जाता है."

उन्होंने आगे कहा, "हम यह देखकर काफी प्रसन्न हैं कि 90 फीसदी जिन व्यक्तियों ने इसे ट्राई किया वो केवल एक या दो बार कोशिश करने के बाद इसे आसानी से इस्तेमाल करने लगे." जहां दिनचर्या में बदलाव करके और दवाओं के साथ उच्च रक्तचाप का इलाज किया जा सकता है, इस बीमारी से पीड़ित केवल 20 फीसदी ही लोग ऐसे हैं जिनकी स्थिति नियंत्रण में रहती है.

यह अविष्कार मरीजों को एक आसान विकल्प मुहैया कराएगा और रोजाना की नाप लेकर उन्हें बिल्कुल सटीक औसत बताएगा. शोध टीम इस उपकरण को और ज्यादा सटीक बनाने में जुटी रहेगी और उम्मीद है कि एसोसिएशन फॉर द एडवांसमेंट ऑफ मेडिकल इंस्ट्रूमेंटेशन के स्टैंडर्ड प्रोटोकॉल के आधार पर ज्यादा बेहतर परीक्षण करेगी.

First published: 11 March 2018, 19:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी