Home » हेल्थ केयर टिप्स » Good sleep during the night is very important for a healthy body
 

अगर रात में नहीं लेते हैं पूरी नींद तो हो जाएं सावधान, ये गंभीर बीमारियां ले सकती हैं जान

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 February 2020, 16:20 IST

Health Care Tips: अगर आप रात में अच्छी नींद नहीं ले पाते हैं तो आपके लिए ये खबर बहुत जरूरी है. रात के दौरान अच्छी नींद लेना हर इंसान के लिए जरुरू है. अच्छी नींद स्वस्थ शरीर के लिए बहुत आवश्यक है. लेकिन अगर आपकी नींद पूरी नींद हो पाती अथवा आप गलत समय पर सोते हैं, तो इससे आपको कई प्रकार की समस्या हो सकती है.

आपको सबसे पहले निंद्रा विकार की समस्या हो सकती है. इसके अलावा आप अवसाद में जा सकते हैं. कई बार अवसाद में जाने के बाद लोग आत्महत्या तक कर लेते हैं. आपको सात से नौ घंटे की अच्छी नींद लेना जरूरी है. इससे आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, वहीं ब्लड प्रेशर, हार्मोन भी ठीक रहता है.

 

डॉक्टर्स का कहना है कि नींद संबंधी विकार कई तरह के हालातों के प्रभाव के कारण होते हैं, यह नियमित रूप आने वाली अच्छी नींद को प्रभावित करते हैं. नींद न आने से साधारण सिरदर्द और दिन भर तनाव बना रहता है. डॉक्टर का कहना है कि सिरदर्द की समस्या एक सामान्य न्यूरोलॉजिकल विकार है, यह 60-70 प्रतिशत नींद में खलल से संबंधित है.

नींद न लेने से होती हैं ये बीमारियां-

स्लीप एपनोया

स्लीप एपनोया एक गंभीर विकार है, इसमें खून में ऑक्सीजन की कमी से सांस लेने में परेशानी होती है. इसमें मरीज की अचानक सांस रुक जाती है और फिर आने लगती है. इस बीमारी से मस्तिष्क और शरीर के अन्य हिस्सों में ऑक्सीजन के प्रवाह में इफेक्ट पड़ता है. खर्राटे लेना, घरघराहट और मुंह सूखना इसके सामान्य लक्षण हैं.

रेस्टलेस लेग्स सिंड्रोम

इस बीमारी में मरीज अपने पैरों को हिलाने लगता है. जब भी वह सोने जाता है तो उन्हें पैरों में जलन होती है, इससे मरीज को अच्छी नींद लेने में परेशानी होती है.

स्लिप पैरालिसिस

यह एक ऐसा विकार है जब व्यक्ति जागने और सोने में हिलने या बोलने में असमर्थ होता है. तब मरीज को एक निश्चित दबाव और तत्काल भय का अनुभव होता है. इससे पीड़ित लोग कई बार सचेतन में होते हैं, लेकिन वे हिलने-डुलने में असमर्थ होते हैं.

 

सर्कैडियन रिदम डिसऑर्डर

इसमें मरीज का इंटरनल बायोलॉजिकल क्लॉक बाहरी समय के साथ समन्वय नहीं बिठा पाता. सोने के समय को लेकर इस बीमारी में मरीज की दिमागी घड़ी कुछ घंटे पीछे चली जाती है. जो लोग नाइट सिफ्ट करते हैं, उनके साथ ऐसा होता है.

इंसोमेनिया

इस तरह के अनिद्रा विकार में मरीज को नींद आने और नियमित तौर पर पूरी नींद लेने में परेशानी होती है. इससे उसे पूरे दिन ऊर्जा की कमी नजर आती है.

पूरी नींद लेने के टिप्स

अगर आप भी पूरी नींद लेना चाहते हैं तो बिस्तर पर जाने का एक समय निश्चित कर लें और उसे बनाए रखें. इसके अलावा टीवी, कंप्यूटर या मोबाइल पर समय बिताना कम कर दें. इसके अलावा प्रतिदिन नियमित रूप से व्यायाम करें. दोपहर या बीच-बीच में नींद लेने से बचें. बिस्तर पर जाने से पहले गर्म पानी से पैर धोएं. इससे आपको अच्छी नींद आएगी.

चीन में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, अबतक 2,442 लोगों की मौत, इटली में दो की मरे

चीन में कोरोना वायरस से आम नागरिक ही नहीं 3019 डॉक्टर भी हो गए संक्रमित, अबतक 2,345 की मौत

First published: 23 February 2020, 16:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी