Home » हेल्थ केयर टिप्स » Health Benefits and Side Effects of thorn apple or Dhatura
 

गंजेपन की समस्या को खत्म कर देता है धतूरा, इन बीमारियों के लिए भी है काल

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 February 2020, 13:07 IST

Thorn Apple or Dhatura Health Tips: धतूरा (thorn apple) का नाम सुनते ही हमें सबसे पहले भगवान शिव (Lord Shiva) की याद आती है क्योंकि धतूरा भगवान शिव का सबसे प्रिय फल (Favourite Fruit) है. इसीलिए धतूरे का प्रयोग भगवान शिव की पूजा (Worship) के दौरान किया जाता है और इसे शिवलिंग (Shivlinga) पर चढ़ाया जाता है. लेकिन कम लोग ही जानते हैं कि धतूरे का प्रयोग औषधि (Medicine) के रूप में भी किया जा सकता है.

जिससे कई बीमारियों (Disease) का इलाज (Treatment) किया जा सकता है. हालांकि कि धतूरे का प्रयोग केवल शरीर के बाहरी अंगों (External Use) पर किया जाता है, क्योंकि इसका सेवन जहर की तरह आपके शरीर को हानि पहुंचा सकता है. आयुर्वेद में भी धतूरे के प्रयोग की बात सामने आई हैं. इसके प्रयोग से हर छोटी-बड़ी बीमारी का इलाज किया जा सकता है.


धतूरा के प्रयोग से गहरे घाव को भरने में मदद मिलती है. इसमें एंटिसेप्टिक गुण पाए जाते हैं जो गहरे घाव को जल्द भर देता है, हालांकि इस बात का भी ध्यान रखने की जरूरत है कि इसका इस्तेमाल ज्यादा गहरे जख्मों पर न किया जाए. क्योंकि इसका इस्तेमाल करने से हमारी त्वचा की ऊपरी कुछ सतहों पर ही किया जा सकता है.

बता दें कि धतूरे में कुछ जहरीले तत्व पाए जाते हैं जो इंसान के शरीर के लिये बहुत हानिकारिक होते हैं. इसलिए इसका प्रयोग करने से बचना चाहिए. इसके अलावा इसका प्रयोग कान में दर्द होने पर भी किया जा सकता है. धतूरे में मौजूद एंटी इन्फेल्मेट्री गुण कान के दर्द को थोड़ी देर में बंद कर देते हैं. हालांकि, बच्चों के कान में उपयोग करने से पहले आयुर्वेदिक डॉक्टर से सलाह जरूर ले लेनी चाहिए.

बता दें कि धतूरा गर्म तासीर का फल है. वैज्ञानिक दृष्टि से धतूरा सीमित मात्रा में लेने पर ही औषधि रहता है, लेकिन गलती से भी इसका अधिक सेवन कर लिया तो ये शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है. इसके अलावा धतूूरे का प्रयोग जोड़ों के दर्द में भी किया जा सकता है. साथ ही पैरों में सूजन या भारीपन के लिए भी धतूरे का प्रयोग कर सकते हैं. इसके लिए धतूरे की पत्तियों को पीसकर लेप करना चाहिए. इससे आपको तत्काल आराम मिलेगा, क्योंकि गर्म तासीर का होने के कारण मांसपेशियों की प्राकृतिक सिकाई होती है और मांसपेशियां नरम पड़ जाती हैं. जिससे मरीज को तत्काल आराम मिलता है. धतूरे के रस को तिल के तेल के साथ मिलाकर लगाने से भी मरीज को फायदा होता है. हालांकि, इस्तेमाल से पहले इसे थोड़ा गर्म कर लेना चाहिए.

धतूरा गंजेपन की समस्या को भी खत्म कर देता है. धतूरे का रस रोजाना सिर पर लगाने से बाल गिरना बंद हो जाते हैं साथ ही नए बाल भी आना शुरु हो जाते हैं. इसके अलावा धतूरा मिर्गी के रोगियों के लिए एक अचूक औषधि है. धतूरे की जड़ सुंघाने पर मिर्गी के रोगी को तत्काल लाभ होता है.

फूलगोभी खाने के फायदे नहीं जानते होंगे आप, इन पेशानियों को कर देती है जड़ से समाप्त

पूरी नींद न लेने से आप हो सकते हैं इन बीमारियों का शिकार, बचने किए करें ये काम

अगर आप भी है अपने मोटापे से परेशान, तो इन चीजों से घटाएं अपना वजन

First published: 28 February 2020, 13:07 IST
 
अगली कहानी