Home » हेल्थ केयर टिप्स » Health benefits of eating Mulethi or Liquorice eliminates these diseases from the root
 

मुलेठी खाने से जड़ से खत्म हो जाती हैं ये बीमारियां, ये हैं फायदे

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 December 2019, 17:20 IST

Health benefits of eating Mulethi or Liquorice: मुलेठी के बारे में हम सब जानते हैं कि इसका प्रयोग गला साफ करने के लिए किया जाता है. लेकिन ज्यादातर लोग ये नहीं जानते कि मुलेठी के सेवन से कई तरह की बीमारियों से भी राहत मिलती है. मुलेठी को हम मीठी जड़ के रूप में भी जानते हैं. मुलेठी के सेवन से सेहत ही नहीं बल्कि आपकी खूबसूरती भी बरकरार रहती है. मुलेठी कई बीमारियों में दवा का काम करती है. मुलेठी का प्रयोग ज्यादातर कैंडी और मीठे पेय पदार्थों में स्वीटनर के रूप में किया जाता है, लेकिन इसके औषधीय लाभों के लिए इसकी जड़ का भी इस्तेमाल किया जाता है.

मुलेठी का सेवन कई बीमारियों में दवा से ज्यादा अच्छा काम करती है. मुलेठी स्किन से जुड़ी समस्याओं को दूर कर खूबसूरती बढ़ाने में भी मददगार साबित होती है. मुलेठी एक पौधे की जड़ है, जिसे ग्लाइसीर्रिजा ग्लबरा कहा जाता है. बता दें कि मुलेठी यूरोप और एशिया में पाई जाती है. इसका पौधा खरपतवार की श्रेणी में आता है लेकिन इसके गुणों के चलते ये बेहद महत्वपूर्ण है.

प्राचीन काल में मिस्र के लोग मुलेठी का प्रयोग कई बीमारियों में चाय की तरह प्रयोग किया करते थे. इसका प्रयोग कुछ लोग माउथफ्रेशनर के रूप में भी करते हैं. मुलेठी का प्रयोग किसी भी तरह कि खांसी को ठीक करने के लिए किया जाता है. मुलेठी को पीस कर उसे मुंह में रख लें और उसका रस चूसते रहें. इसके अलावा लंबे समय से चली आ रही खांसी में मुलेठी का प्रयोग तुरंत आराम देता है. साथ ही काली मिर्च के साथ पीस कर मुलेठी खाने से फायदा होता है. इसका काढ़ा पीने से गले कि खराश भी दूर होती है.

अगर आपके चेहरे पर बहुत दाग-धब्बे हों, या चेहरा काला सा हो गया है तो आप मुलेठी के पाउडर को ग्लिसरीन ओर नींबू के रस में मिला कर पेस्ट की तरह लगाएं. सूखने पर धो दें. साथ ही मुलेठी का काढ़ा पीएं ताकि ये आपके ब्लड की गंदगी को साफ कर स्किन को चमकदार बनाए. यदि आपको कमजोरी महससू हो रही हो तो आप दूध के साथ मुलेठी के पाउडर को लेना शुरू कर दें. एक चम्मच मुलेठी पाउडर को आप घी और शहद मिला कर भी लें. इससे आपका दिल भी मजबूत रहेगा.

जिन लोगों के मुंह में बार-बार छाले हो जाते हैं, उन्हें मुलेठी जरूर चूसना चाहिए. इसका रस मुंह के छालों को ही नहीं पेट की गर्मी को भी शांत करता है. इतना ही नहीं इससे आवाज भी सुरीली होती है. पेट में अल्सर कि शिकायत होने पर मुलेठी का ठंडा काढ़ा पीना चाहिए. ये पेट को ठंडा रखता है और पेट के घाव को भरने का काम करता है. टीबी में भी ये फायदेमंद होता है. स्किन के जलने पर तुरंत मुलेठी पाउडर को मक्खन में मिला कर उसका लेप जलने वाली जगह पर लगा लें. जिससे जलन भी नहीं होगी और दाग भी नहीं पड़ेंगे.

First published: 5 December 2019, 17:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी