Home » हेल्थ केयर टिप्स » Health Benefits of Eating Oats for weight loss and heart disease
 

Health Benefits of Oats : मोटापा कम करने के साथ इन बीमारियों को भी करता है दूर

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 December 2019, 12:35 IST

Health Benefits of Oats : सुबह का नाश्ता हमारी सेहत के लिए सबसे अच्छा माना जाता है. अगर सुबह के नाश्ते (Breakfast) में ओट्स को शामिल कर लिया जाए तो फिर कहना ही क्या? क्योंकि नाश्ते में ओट्स खाने से शरीर को कई जरूरी पोषक तत्व मिल जाते हैं. इसीलिए ओट्स (Oats) को सबसे लोकप्रिय नाश्ता माना जाता है. इसे संपूर्ण अनाज की लिस्ट में शामिल किया गया है.

बहुत से लोग अपने नाश्ते में पके हुए ओट्स लेते हैं, लेकिन ज्यादातर लोग नहीं जानते कि कच्चे ओट्स अधिक फायदेमंद होते हैं? हालांकि जब कच्चे खाद्य पदार्थों की बात आती है तो सलाद और फल ही हमारे दिमाग में आते हैं. ओट्स को साबुत अनाज के रूप में कच्चा खाना, पके हुए ओट्स से ज्यादा फायदेमंद होता है.


इसके लिए आप खाने से कुछ घंटे पहले ओट्स को भिगो कर रख दें. कच्चे ओट्स फाइबर (Fiber) और पौधे आधारित प्रोटीन (Protein) में समृद्ध हैं. जबकि आम तौर पर लोग इसे पका कर या दलिया के रूप में खाना पसंद करते हैं, लेकिन इसे पका कर खाने से इसे पोषक तत्व कम हो जाते हैं. कच्चे ओट्स विभिन्न पोषक तत्वों से भरे होते हैं. इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर, कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, स्वस्थ वसा, प्रोटीन, मैगनीशियम,पोटैशियम, जस्ता,फास्फोरस,सेलेनियम पाया जाता है. इसलिए इसे भिगो कर खाना अच्छा माना जाता है.

कच्चे ओट्स का सेवन वजन कम करने के लिए अच्छा माना जाता है. क्योंकि ये हाई फाइबर से भरा होता है जो लंबे समय तक पेट को भरा महसूस कराता है. साथ ही यह भूख को दबाने में भी मदद करता है. इसके अलावा कच्छे ओट्स खाने से कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी कम किया जा सकता है. इसमें बीटा-ग्लूकन नाम का घुलनशील फाइबर भी पाया जाता है. जो ब्लड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है. ये कोलेस्ट्रॉल और बाल्स सॉल्ट को अवशोषित करके वसा के चयापचय को भी प्रभावित करता है जिससे खराब कोलेस्ट्रॉल घटता है.

यही नहीं कच्चे ओट्स खाने से ब्लडप्रेशर की समस्या कम होती है और इससे दिल की सेहत भी सुधरती है. हाई ब्लडप्रेशर दिल की परेशानी से जुड़ा होता है. इसलिए यदि ब्लडप्रेशर सही हो तो दिल की बीमारियां होने की संभावना भी कम होती हें. बता दें कि अगर दलिया भी बेहतर नाश्ता माना जाता है. लेकिन बात अगर आंत की मजबूती की हो तो कच्चा ओट्स बहुत फायदेमंद होता है.

कच्चा ओट्स कब्ज या इससे जुड़ी समस्या को खत्म करने में बहुत मददगार साबित होता है. इसके अलावा कच्चे ओट्स में बीटा-ग्लूकन पाया जाता है जो ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में मदद करता है. यह इंसुलिन को विनियमित करने में सहायक होता है. जो टाइप-2 डायबिटीज रोगियों के लिए अच्छा होता है. ये इंसुलिन के उत्पादन को स्थिर करके पाचन और ब्लड शुगर को कंट्रोल करता है.

कच्चा ओट्स कब्ज या इससे जुड़ी समस्या को खत्म करने में बहुत मददगार साबित होता है. इसके अलावा कच्चे ओट्स में बीटा-ग्लूकन पाया जाता है जो ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में मदद करता है. यह इंसुलिन को विनियमित करने में सहायक होता है. जो टाइप-2 डायबिटीज रोगियों के लिए अच्छा होता है. ये इंसुलिन के उत्पादन को स्थिर करके पाचन और ब्लड शुगर को कंट्रोल करता है.

माइग्रेन के दर्द से निजात दिलाएगा दालचीनी का सेवन, ऐसे करें इस्तेमाल

यदि आप भी सर्दी खांसी से हैं परेशान तो चाय डाले ये चीजें और पाएं झटपट आराम

खाना खाने के तुरंत बाद स्नान करने से हो सकती है ये गंभीर बीमारी

First published: 12 December 2019, 12:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी