Home » हेल्थ केयर टिप्स » Health benefits of taking daily a cup coffee
 

थकान के साथ इन खतरनाक बीमारियों से भी बचाती है कॉफी, फायदे जान आज से ही कर देंगे शुरु

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 September 2019, 12:11 IST

अक्सर लोग चाय और कॉफी का सेवन नींद या सुस्ती हटाने के लिए करते हैं. लेकिन आप नहीं जानते कि कॉफी आपके लिए नींद हटाने का जरिया ही नहीं बल्कि ये आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है. हाल में हुए एक शोध में इस बात का पता चला है कि कॉफी का सेवन आपको कई बीमारियों से निजात दिलाता है. शोध के मुताबिक कॉफी न सिर्फ आपकी सुस्ती दूर करती हैं बल्कि इसका सेवन करने से पित्ताशय में पथरी होने का खतरा भी बहुत कम हो जाता है.

नए शोध के मुताबिक, दिन में 6 या उससे ज्यादा कप कॉफी पीने से पित्ताशय में पथरी होने का खतरा कम हो जाता है. शोध में इस बात का दावा किया गया है कि कॉफी का ज्यादा सेवन करने वाले लोगों में पित्ताशय में पथरी होने का खतरा कॉफी नहीं पीने वालों की तुलना में 23 फीसदी तक कम हो जाता है.

शोधकर्ताओं ने इस शोध के दौरान 104,500 व्यस्कों के स्वास्थ्य और जीवनशैली के डाटा का विश्लेषण किया है. शोध में शामिल प्रतिभागियों पर 13 साल तक नजर रखी गई. उन्होंने सेवन की गई कॉफी की मात्रा और पित्ताशय में होने वाली पथरी के बीच संबंध खोजने की कोशिश की. इस शोध को डेनमार्क के कोपेनहेगन यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल के शोधकर्ताओं की एक टीम ने किया है.

जानिए क्या हैं कॉफी के फायदे

शोधकर्ताओं ने पाया कि दिन में एक कप कॉफी पीने से पित्ताशय में पथरी होने का खतरा तीन फीसदी तक कम होता है, लेकिन कई कप कॉफी पीने से यह खतरा और कम हो जाता है. यूरोपीय गाइडलाइंस के मुताबिक, एक दिन में 400 मिलीग्राम से ज्यादा कैफीन का सेवन नहीं करना चाहिए. एक कप कॉफी में 70 से 140 मिलीग्राम तक कैफीन पाया जाता है.

बता दें कि पथरी एक ठोस पदार्थ होती है. जो पित्ताशय के अंदर बनती है. एक अन्य शोध के मुताबिक ब्रिटेन नें दस में से हर एक व्यक्ति पथरी से पीड़ित है. यह पथरी रेत के दाने से लेकर छोटे पत्थरों के आकार की हो सकती हैं. बता दें कि यह बाइल जूस में मौजूद रसायनों से बनती है. इनमें कोलेस्ट्रोल, कैल्शियम और लाल रक्त कोशिकाओं का रंग भी शामिल होता है. यह पथरी उच्च कोलेस्ट्रोल वाला खाना खाने की वजह से होती है. इसका सबसे आम लक्षण पेट में दर्द होता है.

हर 40 सेकंड में लोग आत्महत्या कर रहे हैं : WHO रिपोर्ट

First published: 11 September 2019, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी