Home » हेल्थ केयर टिप्स » Health Care Tips: Spending more time in smartphones increases suicides among teenagers
 

सावधान: आपके हाथ में मौजूद ये चीज बढ़ती खुदकुशी की है वजह, अब हर हाथ में है ये शैतान

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 April 2020, 19:23 IST

Health Care Tips: आज का युवा अपने परिवार और दोस्तों से कोसों दूर हो गया है. उसे बस एक ही चीज से मोहब्बत बची है, वह है उसका स्मार्टफोन. इसके अलावा उसे कोई और पसंद ही नहीं आता. जिन अभिभावकों के बच्चे स्मार्टफोन के इस्तेमाल में ज्यादा समय बिताते हैं, यह खबर उनके लिए चिंता की है.

एक अध्ययन से सामने आया है कि ऐसे बच्चे अवसाद में रहते हैं और खुदकुशी करने की ज्यादा कोशिश करते हैं. अमेरिका में फ्लोरिडा स्टेट यूनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर का कहना है कि आधुनिक समय में किशोरों द्वारा स्मार्टफोन का ज्यादा इस्तेमाल अवसाद और खुदकुशी का खतरा बढ़ा देता है.

उनके एक शोध के मुताबिक, जो बच्चे स्मार्टफोन की जगह खेलों, अन्य शाररिक गतिविधियों तथा आपस में बात करने, दोस्ती बढ़ाने और होम वर्क में ध्यान देते हैं, वो बच्चे ज्यादा खुश रहते हैं. प्रोफेसर ने बताया कि स्मार्टफोन चलाने और अवसादग्रस्त होने, खुदकुशी के ख्याल आने तथा आत्महत्या की कोशिश करने के बीच चिंताजनक संबंध है.

उन्होंने बताया कि मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दे बेहद गंभीर हैं. अभिभावकों को इस पर विचार करना चाहिए." प्रोफेसर ने साफ किया कि अभिभावकों को यह नहीं सोचना चाहिए कि उन्हें अपने बच्चों के स्मार्टफोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों से दूर करने की ज़रूरत हैै. उन्हें अपने बच्चों के स्क्रीन के इस्तेमाल को एक से दो घंटे तक ही सीमित कर देना चाहिए.

Video : दिल्ली के जय प्रकाश नारायण अस्पताल में 82 साल के बुजुर्ग ने दी कोरोना को मात

अगर आपके भी होता है अक्सर गर्दन और कंधे में दर्द तो ऐसे पाएं निजाए, अपनाएं ये अभ्यास

First published: 7 April 2020, 19:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी