Home » हेल्थ केयर टिप्स » Health Care Tips: You should not eat bread everyday, it has chemical
 

रोजाना खाते हैं ब्रेड तो हो जाएं सावधान, हानिकारक केमिकल होने की बात आई थी सामने

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 April 2020, 20:32 IST

Health Care Tips: अगर आप भी हर रोज ब्रेड खाते हैं तो आपको सावधान होने की जरूरत है. ब्रेड में हानिकारक केमिकल होने की बात सामने आ चुकी है. कुछ दिनों पहले सेंटर फॉर साइंस एंड एंवायरमेंट की जांच में ब्रेड में कैंसर फैलाने वाले केमिकल होने की बात सामने आने से हड़कंप मच गया था. 

जांच में पता चला था कि ब्रेड में हानिकारक पोटैशियम ब्रोमेट और पोटैशियम आयोडेट पाया गया था. भारत में बेकरी उत्पादों में इनका खूब इस्तेमाल हो रहा था. वहीं, ब्रेड शरीर में न्यूट्रिशन की पूर्ति नहीं करती. आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि इसका रोजाना नाश्ते के रूप में इस्तेमाल करना फायदेमंद नहीं है. 

कोरोना का कहर: देश में पिछले 24 घंटों में 1975 नए मामले, 27 हजार के करीब पहुंचा मरीजों का आंकड़ा

ब्रेड लंबे समय तक मुलायम, सफेद और फूला रहे, इस कारण ब्रेड में खतरनाक केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है. यह आपके शरीर में दिक्कत पैदा करते हैं. वहीं, रोटी केमिकल रहित होती है, इसलिए ब्रेड की तुलना में यह स्वास्थ्यवर्धक होती है. सफेद ब्रेड को मुलायम बनाने के लिए अधिक केमिकल का इस्तेमाल होता है. दूसरी तरफ ब्राउन ब्रेड और मल्टीग्रेन में इनकी मात्रा कम होती है.

ब्रेड आंतों के लिए भी कई समस्या पैदा कर सकती है. विशेषज्ञों के अनुसार, हफ्ते में 2 पीस से ज्यादा ब्रेड न खाएं. इसमें मौजूद नमक, चीनी और प्रिजर्वेटिव्स आपका वजन बढ़ाने का काम करते हैें. वहीं इसमें मौजूद पोटैशियम ब्रोमेट ऐसा पदार्थ हैं जो कैंसर का कारण बनता है. लगातार बॉडी में इसकी मात्रा बढ़ने से मेटाबॉलिज्म स्लो हो जाता है.

मेटाबॉलिज्म स्लो होने से कैंसर कोशिकाएं बनने का खतरा बढ़ जाता है. इसके साथ पेट का कैंसर, किडनी स्टोन के लिए ब्रेड कारण बन सकता है. जबकि पोटैशियम आयोडेट शरीर में रेडियोएक्टिव आयोडीन की तरह काम करता है. यह आयोडीन की मात्रा बढ़ाता है और एनर्जी का स्तर भी घटाता है. लंबे समय तक इस्तेमाल से यह थायरॉइड कैंसर का कारण हो सकता है.

कोरोना का कहर: देश के मात्र 27 जिलों में ही 68.2 फीसदी केस, अब तक 826 लोगों की मौत

कोरोना का कहर: CRPF के 15 जवान फिर पाए गए पॉजिटिव, संक्रमितों की कुल संख्या हुई 25

First published: 26 April 2020, 20:32 IST
 
अगली कहानी