Home » हेल्थ केयर टिप्स » health mobile excess use can make you sick infertile and can cause death
 

स्मार्टफोन की आदत आपकी ले सकता है जान, बढ़ता है बांझपन का खतरा

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 May 2019, 13:09 IST

आज के समय में स्मार्टफोन का इस्तेमाल हर कोई करता है. स्मार्टफोन की आदत से लोगों को कई तरह की समस्याएं होती है. स्मार्टफोन को लेकर कई रिसर्च भी हुए हैं और इस बात का भी खुलासा हुआ है कि स्मार्टफोन से कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं.

रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है कि स्मार्टफोन की वजह से मेमोरी पॉवर, अनिंद्र, सक्रियता और काम कम करने की क्षमता हो जाती है. इसके साथ ही जो लोग लंबे समय तक फोन के साथ अपना समय बिताते हैं, उनकी उम्र भी कम होती है.

सच्चाई ये है कि स्मार्टफोन के इस्तेमाल से शरीर में कॉर्टिसॉल हर्मोन का उत्पादन तेजी से होता है. इसके कारण अवसाद का स्तर बढ़ने लगता है. कॉर्टिसॉल हार्मोन का स्तर बढ़ने से सिर्फ सेहत ही नहीं, बल्कि हमारे जीवन पर भी इसका काफी असर पड़ता है.

स्मार्टफोन के ज्यादा इस्तेमाल से इसका असर हमारे डोपामाइन हर्मोन पर पड़ता है. डोपामाइन हर्मोन आदत लगने और नई आदतों को विकसित करने का जिम्मेदार माना जाता है. स्पेशलिस्ट्स का कहना है कि स्मार्टफोन का अधिक इस्तेमाल का जिम्मेदार डोपामाइन हार्मोन है. इसके सा ही शरीर में कॉर्टिसॉल का स्तर भी बढ़ता है, जो हमारी सेहत के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकता है.

लहसुन खाने वाले हो जाएं सतर्क, इन लोगों को भुगतना पड़ सकता है नुकसान, बन सकता है जहर

कॉर्टिसॉल हार्मोन का काम

कॉर्टिसॉल हार्मोन का काम हमारे बॉडी में एकाएक हुए बदलाव जैसे हार्ट रेट, ब्लड प्रेशर और शुगर लेवल को नियंत्रित कने का है. अगर शरीर में कॉर्टिसॉल हार्मोन का लेवल अगर अचानक से बढ़ने लगता है, तो इससे चिंता और अवसाद की स्थिति बढ़ने लगती है, जो हमारे लिए काफी नुकसादायी है. इस मामले में प्रफेसर डेविड ग्रीनफील्ड का कहना है कि यदि आप अक्सर अपने स्मार्टफोन के आसपास रहते हैं, तो इससे आपके बॉडी में कॉर्टिसॉल हार्मोन का स्तर बढ़ जाता है.

Ramadan 2019: रमजान में खजूर से रोजा खोलना फायदेमंद, वैज्ञानिक सच्चाई जानकर रह जाएंगे हैरान

कॉर्टिसॉल का बढ़ना:

अगर आपके शरीर में कॉर्टिसॉल का लेवल बढ़ता है तो एक बार डॉक्टर्स को दिखा लें. इसकी वजह से वजन बढ़ना चया-पाचया (मेटाबोलिज्म), अवसाद, डायबिटीज टाइप 2, नपुंसकता की शिकायत, हार्ट अटैक, हाई ब्लड प्रेशर, डिमेंशिया और स्ट्रोक जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है.

खाली पेट सोना सेहत के लिए है घातक, बढ़ता है कई गंभीर बीमारियों का खतरा

First published: 6 May 2019, 13:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी