Home » हेल्थ केयर टिप्स » HEALTH NEWS: Why is decreasing chicken meat and nutrition of eggs, the reason is interesting!
 

क्यों कम हो रही है मुर्गी के मांस और अंडे की पौष्टिकता, कारण बड़ा दिलचस्प है !

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 March 2018, 17:39 IST

अगर आप मुर्गे के शौकीन है और साथ में अंडा भी खाते है, तो ये खबर सिर्फ आपके लिए है. हाल हीं में जबलपुर वेटरनरी विश्वविद्यालय के वैज्ञानिको ने एक शोध किया, जिसमें में यह खुलासा हुआ की, मुर्गा-मुर्गी के रख-रखाव और खान-पान  में ध्यान न देने की वजह भी, मांस और अंडे  की गुणवत्ता और आकार  में भी काफी असर डालती  है.

 

रिपोर्ट के मुताबिक :-
इस गिरावट की मुख्य वजह बढ़ता तापमान, रख रखाव की जगह, और खान-पान की वजह बतायी गयी है, जिससे मुर्गे के मांस का रंग फीका पड़  रहा है.साथ हीं उसकी पौष्टिकता और स्वाद में भी कमी आयी है.       

मुर्गी के अण्डों में से निकलने से लेकर,अंडे देने के स्थिति में आने तक का अध्यन किया गया,  जिस दौरान उनकी कोशिकाओं में होने वाले परिवर्तन से तनाव के स्तर कि जांच की जिसमे मुर्गियों के लिवर, किडनी और हार्ट कोशिकाओं के अध्यन में तनाव देखने को मिला.

सामान्य लक्षण:-

सामान्य तौर पे मुर्गियां 18 सप्ताह में अंडे देना प्रारम्भ कर देती है.लेकिन इस शोध में यह,समय 20 -22 हफ़्तों में देखा गया.
वहीं मुर्गियों के औसतन 2किलो वजन होने में, सामान्यत 35हफ़्तों का समय लगता है, लेकिन इस शोध में ये समय भी औसत से 7सप्ताह अधिक पाया गया.

वहीं इस शोध विवि के अनुसन्धान निदेशालय के डॉ.आदित्य मिश्रा ने कहा की मुर्गियों के लिए 26 डिग्री का तापमान अनुकूल है. 

First published: 17 March 2018, 17:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी