Home » हेल्थ केयर टिप्स » Health Tips: Bathing with pouring water directly on head can cause death by brain stroke
 

सीधे सिर पर पानी डालकर नहाते हैं तो हो जाएं सावधान, ब्रेन स्ट्रोक से हो सकती है मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 February 2019, 15:26 IST

जिंदगी जीने और खुशहाल रहने के लिए इंसान को स्वस्थ रहना बहुत जरूरी है. इसीलिए खाने-पीने और उठने -जागने की तरह ही नहाने का भी एक सही तरीका होता है. अगर सही तरीके से नहाते हैं तो दिल-दिमाग सब तंदरुस्त रहता है लेकिन गलत तरीके से नहाने पर ब्रेन स्ट्रोक से लेकर हार्ट अटैक तक का खतरा पैदा हो सकता है. जिससे आपको अपनी जान तक गंवानी पड़ सकती है.

कभी भी नहाने के लिए सीधे शावर के नीचे खड़े हो जाना या फिर बाल्टी से सिर पर पानी डाल लेना खतरे की निशानी है. दरअसल, हमारे शरीर में खून का प्रवाह ऊपर से नीचे की तरफ होता है. इसलिए अगर सीधे सर में ठंडा पानी डालकर नहाते हैं तो ये नलिकाएं सिकुड़ने या रक्त के थक्के जमने लग जाते है.

 

बता दें कि सिर में बहुत महीन रक्त नालिकाएं होती हैं, जो दिमाग को रक्त पहुंचाती हैं. इसीलिए थोड़ा होशियार रहें और ऊपर से पानी डालने की शुरुआत न करें. कई बार क्या होता है कि सिर पर सीधे पानी डालने से हमारा सिर ठंडा होने लगता है. इस कारण हृदय को सिर की तरफ ज्यादा तेजी से रक्त भेजना पड़ता है. कभी-कभी इससे हार्ट अटैक या दिमाग की नस फटने की दिक्कत हो सकती है.

नक्सली के लिए भगवान बना CRPF का जवान, जिस पर चला रहा था बंदूक उसी ने खून देकर बचाई जान

आपने कई बार देखा होगा कि नन्हे बच्चे नहाते समय बहुत कांपते रहते हैं और रोते-रोते उनका चेहरा लाल हो जाता है. वहीं कई बार किसी बुजुर्ग को नहाते समय अचानक से सांस लेने में तकलीफ होने या स्ट्रोक जैसे लक्षण नजर आने लगते हैं. इसका मेन कारण है नहाने का गलत तरीका.

इसलिए नहाने की हमेशा शुरुआत पैर से करें. सबसे पहले पैर के पंजो पर पानी डालें. पैर के बाद थाइज, पेट, हाथ, कन्धों और सबसे आखिर में सिर पर पानी डालें. इससे नियंत्रण तंत्र भी तुरंत प्रतिक्रिया देता है जिससे कांपने से शरीर में गर्मी उत्पन्न होती है और हृदय की धड़कन अत्यधिक बढ़ जाती है.

First published: 6 February 2019, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी