Home » हेल्थ केयर टिप्स » Health why your eyelashes blink
 

क्यों झपकती हैं बार-बार पलकें, स्वस्थ आंखों के लिए ये है जरूरी, वरना हो सकती हैं गंभीर बीमारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 June 2019, 11:11 IST

कंप्यूटर और टीवी का ज्यादा इस्तेमाल करने वाले पलकें कम झपकते हैं. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि टीवी और कंप्यूटर पर लोग एकाग्रिचत होकर एक ही जगह पर केंद्रित होते हैं, इसलिए टीवी और कंप्यूटर पर काम करने के दौरान पलके कम झपकती हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं अगर हमारी पलके कम झपकती हैं, तो ये हमारी आंखों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है.

पलके कम झपकने आंखों में ड्राई आई सिंड्रोम होने की संभावना होती है. चलिए जानते हैं पलके झपकना क्यों हमारी आंखों के लिए जरूरी है और क्या है ड्राई आई सिंड्रोम-

स्वस्थ आंखों की पुतलियां ज्यादातर गिली होती हैं. स्वस्थ आंखों की पुतलियों में एक खास तरह का लिक्विड होता है, जो हमारी आंखों में ल्युब्रिकेंट की तरह काम करता है. जब पलकें झपकती हैं, तो ये ल्युब्रिकेंट हमारी आंखों की पुतलियों में अच्छी तरह फैलता रहता है. इससे आंखों की पुतलियों पर नमी बनी रहती है. वहीं, अगर आप अपनी पलकें कम झपकाते हैं, तो इससे ल्युब्रिकेंट आपकी आंखों में सही तरह से नहीं फैलता है. इसी वजह से आंखों में सूखापन आ जाता है, जिसे ड्राई आई सिंड्रोम कहा जाता है.

फ्रूट जूस का मजा लेने वाले हो जाएं सतर्क, ऐसे बढ़ सकता है मौत का खतरा

क्‍या है झपकती हैं पलकें?

पलके झपकना आंखों के लिए कितना जरूरी है, इसके बारे में तो आपने शायद जान ही लिया होगा. लेकिन क्या आप जानते हैं कि आखिर पलकें झपकती क्यों है. हमारी आंखें एक मिनट में कितनी बार झपकती हैं, इस बात पर शायद ही आपने कभी ध्यान दिया होगा. लेकिन ये जानना काफी जरूरी होता है, क्योंकि हर व्यक्ति की अलग-अलग स्थिति और व्यवहार के दौरान अलग-अलग गति से पलकें झपकती हैं.

वैज्ञानिकों के अनुसार, यदि हम कोई अपनी पंसद का काम करते हैं, तो इस दौरान हमारी आंखों की पलके बहुत कम झपकती हैं. इस दौरान हमारी आंखें सिर्फ 5 से 8 बार झपती हैं यानि जब तक हमारी आंखें थक ना जाएं तब तक ये झपकती नहीं है.

अगर हम सामान्य काम के दौकान पलके झपकने की बात करें, तो वैज्ञानिकों के अनुसार, प्रत्येक मिनट में करीब 15 बार हमारी आंखें झपकती है, लेकिन अलग-अलग मानसिक स्‍थित, व्यवहार और माहौल के हिसाब के हमारी आंखों की पलकें झपकनी की गति होती हैं.

 दांत और मसूड़ों को इस तरह से करें मजबूत, साथ ही कैंसर जैसी बीमारियां होंगी दूर

आंखों के रेटीना और लेंस पर नमी बनाए रखने की वजह से हमारी पलकें झपकती हैं, लेकिन सिर्फ ये सच नहीं है. इसके पीछे एक और बड़ा विज्ञान छिपा है, जो काफी हट कर है. 

अमेरिका के रिसर्च में पता चला है कि जब दिमाग को आराम की जरूरत होती है, तो पलकें झपकती हैं. यानि पलकें झपकना हमारे दिमाग का एक छोटा सा आराम करने का तरीका है.

आम खाने से पहले हो जाएं सतर्क, वरना हो सकती हैं ये गंभीर बीमारियां, ये लोग रखें विशेष सावधानी

First published: 6 June 2019, 11:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी