Home » हेल्थ केयर टिप्स » higher risk of breast cancer in women when she working in night shift Health news, health care, health tips
 

नाइट शिफ्ट में जॉब करने वाली महिलाओं में बढ़ जाता है कैंसर होने का खतरा

न्यूज एजेंसी | Updated on: 10 January 2018, 15:13 IST
प्रतिकात्मक तस्वीर

अगर आप महिला हैं और आपको कार्यस्थल पर लंबे समय से नाइट शिफ्ट में काम करना पड़ रहा है, तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए चिंता का विषय हो सकता है. एक नए शोध के मुताबिक, अनियमित घंटों की लगातार शिफ्ट से महिलाओं में सामान्य कैंसर होने का जोखिम बढ़ जाता है.

शोधकर्ताओं ने पाया कि कुल मिलकार लंबे समय तक नाइट शिफ्ट करने से महिलाओं में कैंसर होने की संभावना 19 फीसदी तक बढ़ जाती है. सभी पेशों के विश्लेषण करने के बाद शोधकर्ताओं ने पाया कि लंबे समय तक नाइट शिफ्ट करने से नर्सो में स्तन कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है.

 

चीन के चेंगदु स्थित सिचुआन विश्वविद्यालय के वेस्ट चाइना मेडिकल सेंटर में शोध के सह-लेखक शुईलेई मा ने बताया, "हमारे शोध से पता चलता है कि कार्यस्थल पर नाइट शिफ्ट में काम करने से महिलाओं में कैंसर का जोखिम बढ़ जाता है." यह अध्ययन कैंसर एपिडेमियोलॉजी, बॉयोमार्कर एंड प्रीवेंसन पत्रिका में प्रकाशित किया गया है.

इसके साथ-साथ इस शोध में यह भी पाया गया कि जो महिलाएं नाइट शिफ्ट में काम करती हैं, उनमें नाइट शिफ्ट में काम नहीं करनेवाली महिलाओं की तुलना में त्वचा कैंसर का खतरा 41 फीसदी, स्तन कैंसर का खतरा 32 फीसदी और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल कैंसर का खतरा 18 फीसदी बढ़ जाता है.

-आईएएनएस

First published: 10 January 2018, 15:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी