Home » हेल्थ केयर टिप्स » how can you protect stomach from problem by natural home remedies
 

सुबह शौच जाने से पहले पड़ती है चूर्ण की जरूरत तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खा

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2018, 14:34 IST

बदलती जीवनशैली और दफ्तर में घंटों कुर्सी पर बैठकर काम करने से लोगों के स्वास्थ्य पर गहरा असर हो रहा है. फास्ट फूड और वक्त पर खाना ना खाने की वजह से भी शरीर में तमाम बीमारियां घर करती जा रही हैं. इनमें सबसे ज्यादा परेशानी पैदा होती है पेट की. ऑफिस में घंटों बैठकर काम करने वाले और फास्ट फूड का अधिक उपयोग करने वालों को पेट की परेशानियों से सबसे ज्यादा दो-चार होना पड़ता है.

ये भी पढ़ें- घर बैठे दांतों के दर्द और मुंह की बदबू से पाएं राहत

आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताएंगे जिन्हें फॉलोकर आप खुद को और अपने पेट को ठीक रख पाएंगे.

क्यों होती है पेट में समस्या

बदलती जीवनशैली में पेट की परेशानी आम बात हो गई है. नौकरी की वजह से रातभर जागना, तला-भुना खाना और शारीरिक श्रम की कमी, ऐसे कई कारण हैं जिस वजह से पेट की परेशानियां बढ़ रही हैं. आयुर्वेद के मुताबिक पेट रोग शरीर के अन्य रोगों का जनक होता है.

पेट की कौन सी परेशानी का क्या है इलाज

एसिडिटी होना

खाने को पचाने में पेट में बनने वाला एसिड या अम्ल बहुत कारगर होता है. लेकिन कई बार पेट में यह एसिड जरूरत से ज्यादा बन जाता है. ऐसे में एसिडिटी की समस्या हो जाती है. वसायुक्त और मसालेदार भोजन का सेवन आमतौर पर एसिडिटी का मुख्य कारण होता है.

क्या है एसिडिटी का उपचार

यदि आपको भी एसिडिटी की समस्या है तो सुबह उठने के तुरंत बाद पानी पीना शुरु कर दें. इसके अलावा अपनी डाइट में फलों को शामिल कर दें. जिनमें केला, तरबूज, पपीता और खीरा को हर रोज खाएं. तरबूज का रस एसिडिटी के उपचार में लाभदायक होता है. नारियल पानी के सेवन से भी एसिडिटी से छुटकारा मिलता है.

जी मिचलाना और उल्टी आना

जी मिचलाना और उल्टी आना शरीर में मौजूद किसी बीमारी का लक्षण हो सकता है. इसे नजरअंदाज ना करें. जी मिचलाने पर शरीर में मौजूद उस बीमारी का पता लगाना और इलाज करना जरूरी हो जाता, जिसकी वजह से उल्टी आना या जी मिचलाने की समस्या हो रही है. लंबी यात्रा में कई बार जी मिचलाने की समस्या आम है.

ऐसे करें इसका इलाज

जी मिचलाने या उल्टी के आने पर आपको दो या तीन टाइम हल्का भोजन करना चाहिए. ऐसे में दही का सेवन आपके लिए फायदेमंद साबित होगा. साथ ही डॉक्टर के परामर्श से दवाई का इस्तेमाल करें.

पेट में गैस बनना

पेट में गैस बनने की समस्या आम बात है. लंबे समय तक भूखे रहने या गरिष्ठ भोजन करने से पेट में गैस बनने लगती है.

ऐसे करें उपचार

पेट गैस की समस्या से निजात पाने के लिए पवन मुक्त आसन करना चाहिए. साथ ही ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए. गैस के उपचार के लिए एक नींबू के रस में दो चम्मच पानी और स्वादानुसार काला नमक मिला ले इसे मुंह के पास ले जाकर चुटकीभर खाने का सोडा मिलाकर तुंरत पी लें.

पेट में कब्ज होना

आज ज्यादातर लोग कब्ज की समस्या से जूझ रहे हैं. ये समस्या कम पानी पीने खाने में फैट की कमी की वजह से होती है. इस बीमारी में भूख नहीं लगती और शौच खुलकर नहीं होती.

ऐसे मिलेगी कब्ज से मिलेगी निजात

कब्ज से राहत के लिए दूध और पपीते का सेवन करना अच्छा माना जाता है. कब्ज होने पर रात को सोते समय गुनगुने पानी से त्रिफला चूर्ण का सेवन भी फायदेमंद होता है. इसके अलावा चौलाई के साथ दूध भी कब्ज में आराम देता है.

First published: 11 February 2018, 14:26 IST
 
अगली कहानी