Home » हेल्थ केयर टिप्स » How To Protect Yourself From Dengue And Malaria Mosquitoes
 

डेंगू-मलेरिया के मच्छरों से बचने के लिए करें ये खास उपाय, नहीं पड़ेगी डॉक्टर के पास जाने की जरूरत

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 September 2018, 16:01 IST

बारिश के मौसम में और बारिश के बाद बीमारियां तेजी से फैलती हैं. ऐसे में सबसे ज्यादा खतरा डेंगू और मलेरिया के फैलने का होता है. डेंगू और मलेरिया के फैलने का कारण आपके घर के आसपास पनपते मच्छर हैं. जो आपको काटते हैं और डेंगू-मलेरिया जैसी खतरनाक बीमारियां हो जाती हैं. ऐसे में मच्छरों से बचना ही आपको डेंगू और मलेरिया जैसी खतरनाक बीमारियों से बचा सकता है.

बता दें कि मलेरिया और डेंगू के मच्छर अक्सर शाम के बाद यानि सूर्यास्त होने पर लोगों को अपना निशाना बनाते हैं. अगर एक बार मलेरिया और डेंगू के वायरस मानव इंसान के शरीर में चले जाएं तो उसे अक्सर ठंड के साथ तेज बुखार आता है जो कभी तेज तो कभी धीरे होता रहा है. वहीं जब तक दवा का असर रहता है तो बुखार सही रहता है और दवा का प्रभाव खत्म होते ही फिर से तेजी से बुखार चढ़ने लगता है. इस वजह से मानव रक्त में रक्त प्लेटलेट्स कम होने लगती हैं. जिसके चलते इंसान के शरीर में इन रोगों से लड़ने की क्षमता खत्म होने लगती है.

ये हैं डेंगू और मलेरिया से बचने के उपाय

मलेरिया और डेंगू के मच्छर पानी में ही पनपते हैं. बरसात के मौसम में पानी जगह-जगह इकट्ठा हो जाता है. जिसमें मच्छर पनपने लगते हैं. ऐसे में सबसे बेहतर है कि आप घर में या घर के आसपास पानी इकट्ठा ना होने दें. जिससे मच्छर पैदा नहीं होंगे और आपके डेंगू-मलेरिया जैसी बीमारियां भी नहीं होंगी.

ये भी पढ़ें- तेजपत्ता में छिपा है कमर दर्द, मोच सहित कई बीमारियों का इलाज, ऐसे इस्तेमाल करने से मिलेगा आराम

मच्छरों से बचने का सबसे अच्छा उपाय मच्छरदानी का प्रयोग हैं. इसलिए रात को सोते वक्त अपने बिस्तर के ऊपर मच्छरदानी जरूर लगाएं. साथ ही इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि मच्छरदानी कहीं से कटी या फटी ना हो, वरना मच्छर इसमें प्रवेश कर जाएंगे और आपको काट लेंगे.

ये भी पढ़ें- पीपल के पत्तों में छिपा है कई गंभीर बीमारियों का इलाज, ऐसे प्रयोग करने से मिलेगी निजात

गांव में रहने वाले लोग शाम के वक्त गाय और भैंस के गोबर से बने उपलों को जला सकते हैं. साथ ही इसमें नीम की पत्तियों भी इनके साथ जलाएं तो इसके धुएं से भयंकर मच्छर भी मर जाते हैं. इसलिए आप भी ऐसे ही कीटनाशक धुंए का प्रयोग कर सकते हैं. हालांकि ऐसा करना महानगरों और शहरों में संभव नहीं है लेकिन अक्सर नगर पालिका और नगर निगम मच्छर मारने के लिए फॉगिंग का प्रयोग करते हैं. साथ ही नालियों के किनारे चूने का छिड़काव भी आपको मच्छरों से दूर रख सकता हैं.

ये भी पढ़ें- चेहरे के दाग-धब्बों सहित इन परेशानियों को जड़ से खत्म कर देता है लौंग का इस्तेमाल

First published: 24 September 2018, 15:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी