Home » हेल्थ केयर टिप्स » kateri plant benefits health benefits of solanum virginianum
 

फौरन ले आए घर ये पौधा, अस्थमा, बवासीर, पथरी, गंजापन को करता सकता है जड़ से खत्म

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 October 2019, 11:09 IST

कटेरी का पौधा एक ऐसी जड़ी बूटी है जो कई बीमारियों के लिए रामबाण साबित होती है. इसे कंटकारी या भटकटैया के नाम से भी जाना जाता है. इस जंगली पौधे का इस्तेमाल औषधीय गुणों की वजह से इसका उपयोग अस्थमा, अपच, बवासीर, कान की सूजन और पेशाब की जलन जैसी बीमारियों में किया जाता है.

इसी के साथ इसका उपयोग बुखार, गर्भधारण, गर्भपात, पथरी, सिरदर्द, मस्तक पीड़ा, नेत्र रोग, नेत्रजाला, दंतपीड़ा, गंजापन, खांसी, दमा, जुकाम, पेट दर्द, पेशाब की रुकावट, पेशाब की जलन, दाद आदि में किया जाता है. दरअसल इसकी तासीर गर्म होती है, तेज होने के कारण यह कफ, वात आदि को खत्म करने वाली होती है. पित्त विकार को दूर करती है, पाचक, होती है,इसी के साथ ये खून को साफ करता है. चलिए बताते हैं इसके अन्य स्वास्थ्य फायदें क्या क्या हैं.

नपुंसकता का रामबाण इलाज है टमाटर, जानिए कैसे बढ़ाएं स्पर्म क्वालिटी

बालों के झड़ने की समस्या में ये काफी कारगर है. इससे राहत पाने के लिए आपको कटेरी के 20-30 एमएल रस में थोड़ा सा शहद मिलाकर सिर में लगाकर मालिश करना चाहिए. ऐसा करने से आपके सर पर नए बाल आ जाएंगे.

 

पथरी की समस्या आज कल लोगों में आम हो गई है. इससे निपटने ते लिए आपको भटकटैया के 14-28 मिलीग्राम पंचांग का रस सुबह-शाम शहद के साथ सेवन करना चाहिए. लेकिन ध्यान रखें कि इसका सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह ले लें.

यदि आप खांसी और ब्रोंकाइटिस से परेशान हैं तो 20 मिलीग्राम से 50 मिलीग्राम फूल शहद के साथ दिन में दो बार देने से बच्चों की खांसी कुछ दिन में ठीक हो सकती है. इसके अलावा वायु प्रणाली शोथ यानी ब्रोंकाइटिस से राहत पाने के लिए इसकी जड़ काढ़ा 20 से 40 मिलीलीटर की मात्रा में सुबह शाम लेना चाहिए. इससे बहुत आराम मिलता है. लेकिन इसका सेवन करने से पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूर ले लें.

विटामिन E के कैप्सूल के सेवन से हैं अनेक फायदे, जानकर हो जाएंगें हैरान

सिर दर्द होने पर इस पौधे का रस अपने माथे पर लगाने से आपको सर दर्द में तुरंत आराम मिल जाएगा. इसी के साथ यदि आपको आंखों में दर्द, आंखों का लाल हैं तो इसके लिए भी ये काफी कारगर है. इस समस्या से निपटने के लिए इसके 30 पत्ते पीसकर पेस्ट बना लें. और आंखों के ऊपर रख लें. लेकिन ध्यान रखें कि इससे आंखों में रस नहीं जाना चाहिए.

 

 

First published: 23 October 2019, 16:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी