Home » हेल्थ केयर टिप्स » Know Health Benefits Of Bay Leaf Or Tej Patta For Crick And Joint Pain
 

तेजपत्ता में छिपा है कमर दर्द, मोच सहित कई बीमारियों का इलाज, ऐसे इस्तेमाल करने से मिलेगा आराम

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 September 2018, 16:48 IST

हमारी किचन में खाने के सामान के साथ-साथ कई ऐसे चीजें भी मौजूद होती हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद खास होती हैं. जिनमें तेजपत्ता भी शामिल होता. तेजपत्ता कई तरह के दर्द में बेहद आराम दायक होता है. बस इसके इस्तेमाल की विधि आनी चाहिए. आज हम आपको तेजपत्ता के इस्तेमाल से कमर दर्द, मोच और सूजन के इलाज के बारे में बताएंगे. जिससे ना तो आपको कमर दर्द के परेशानी होगी और मोच का दर्द भी जाता रहेगा.

तेजपत्ता कई तरह के रोगों और शारीरिक परेशानियों में भी फायदेमंद है. तेजपत्ता के तेल में कई औषधीय गुण होते हैं, जिसका इस्तेमाल एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल, एंटी इंफ्लामेट्री और पेन रिलीविंग बाम और जेल में किया जाता है. इसका काढ़ा बनाकर पीने से भी काफी आराम मिलता है.

ये भी पढ़ें- बिना टॉनिक के दूर होगी आयरन की कमी, इन चीजों के सेवन से दो दिन में दिखाई देगा फर्क

तेजपत्ते में कॉपर, पौटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, सेलेनियम और आयरन काफी मात्रा में पाया जाता है. यह कई तरह के एंटीऑक्सिडेंट्स से भी भरपूर होता है जो कैंसर, ब्लड क्लॉटिंग और दिल की कई गंभीर बीमारियों से बचाते हैं. तेजपत्ता का काढ़ा कई तरह के दर्द में बेहद लाभदायक होता है. जैसे कमर दर्द, मोच का दर्द, सूजन आदि.

ये भी पढ़ें- इन चीजों का करेंगे इस्तेमाल तो कभी बीमार नहीं पड़ेंगे आप, बनी रहेगी इम्युनिटी

तेजपत्ता का काढ़ा बनाने के लिए 10 ग्राम अजवायन, 5 ग्राम सौंफ और 10 ग्राम तेजपत्ता को एक साथ पीस लें. अब इस मिश्रण को एक लीटर पानी में मिलाकर उबाल लें. जब पानी 100-150 मिलीलीटर रह जाए तो गैस बंद कर दें और उसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें. ठंडा होने के बाद इस काढ़े को पी लें.

ये भी पढ़ें- शेविंग रेजर से आपको हो सकती हैं ये खतरनाक बीमारियां, जानिए कैसे करें बचाव

तेजपत्ता का काढ़ा पीने से पुराने कमर दर्द में बहुत जल्दी आराम मिलता है. शीत लहर के कारण होने वाले दर्द को भी ये काढ़ा दूर करता है. इसके अलावा कमर दर्द में आप तेजपत्ता के तेल की मालिश भी कर सकते हैं.

तेजपत्ता का काढ़ा मोच की वजह से आई सूजन और तेज दर्द में काफी आराम मिलता है. इसके अलावा मोच वाली जगह पर तेजपत्ता को पीसकर उसका लेप करने से बहुत राहत मिलती है. ऐसा करने से दर्द और सूजन दोनों कम हो जाते हैं.

नसों में खिंचाव, किसी चोट या नसों पर दबाव के कारण सूजन और दर्द होने पर तेजपत्ता का काढ़ा पीना फायदेमंद होता है. नसों में सूजन होने पर दालचीनी, लौंग और तेजपत्ता को थोड़ा सा पानी मिलाकर पीस लें और लेप बनाकर दर्द और सूजन वाली जगह पर लगाने से भी काफी आराम मिलता है.

ये भी पढ़ें- इस नेचुरल फेस पैक से चंद मिनट में गायब हो जाएंगे दाग-धब्बे, ग्लो करने लगेगा आपका चेहरा

First published: 16 September 2018, 16:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी