Home » हेल्थ केयर टिप्स » Know the benefits of doing Bhujangasan to reduce belly fat fast
 

अगर आप भी हैं बढ़ती तोंद से परेशान तो अपना ये टिप्स, चंद दिनों में कम हो जाएगा आपका पेट

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 February 2019, 14:11 IST

आज ज्यादातर लोग मोटापे की समस्या से जूझ रहे हैं. इनमें से अधिकतर लोगों की समस्या पेट का बाहर निकलना है यानि तोंद का बढ़ता है. पेट बढ़ने से ना सिर्फ इंसान के लुक पर प्रभाव पड़ता है बल्कि उसे चलने-फिरने में भी परेशानी होने लगती है. ऐसे में सबसे कारगर उपाय है योग. योग से ना सिर्फ पेट को कम किया जा सकता है बल्कि खुद को फिट भी रखा जा सकता है. आज हम आपको कुछ ऐसे ही योगासन के बारे में बता रहे हैं जिन्हें कर आप भी अपना पेट कम कर सकते हैं.

बता दें कि योग न सिर्फ व्यायाम की प्राचीन पद्धति है बल्कि ये कई बीमारियों का समाधान भी है. योग करने से हमारे शरीर को ऊर्जा मिलती है और लचीलापन भी आता है. बात दें कि कई प्रमुख योगासनों में से एक है भुजंगासन. इसे करने से पेट की चर्बी कम होती है और रीढ़ की हड्डी में लचीलापन आता है. इसके अलावा दमा, पुरानी खांसी या फेफड़ों संबंधी अन्य बीमारी में इस आसन को करने से आराम मिलता है. इससे बाजुओं में भी ताकत आती है.

कैसे करें भुजंगासन

भुजंगासन करने के लिए सबसे पहले जमीन पर पेट के बल लेट जाएं. उसके बाद चेहरा ठोड़ी पर टिकाएं कोहनियां कमर से चिपकाकर रखें और हथेलियों को ऊपर की ओर करके रखें. दोनों हाथों को कोहनी से मोड़ते हुए आगे लाएं और बाजुओं के नीचे रखें.

उसके बाद ठोड़ी को गर्दन के साथ चिपकाते हुए माथे को जमीन पर लगाएं. नाक जमीन को छू रही हो. धीरे-धीरे सांस अंदर लेते हुए हथेलियों के बल सिर और शरीर का अगला भाग ऊपर की ओर उठाएं. सिर को जितना पीछे ले जा सकते हैं ले जाएं. ध्यान रखें कि आपका पेट और नाभि जमीन से लगा होना चाहिए.

इस स्थिति में 30 सेकेंड तक रुकना है. शुरुआत में ऐसा न कर पाएं, तो उतनी देर करें जितनी देर आराम से कर पा रहे हैं. बाद में सांस छोड़ते हुए धीरे-धीरे सिर को नीचे लाकर ठोड़ी को जमीन पर रखें और हाथों को पीछे ले जाकर ढीला छोड़ दें.

इसके दूसरे हिस्से में दोनों हथेलियों को सामने की ओर लाकर ठोड़ी के नीचे रखें. इसके बाद पहले की तरह सांस धीरे-धीरे लेते हुए सिर से शरीर को ऊपर की ओर उठाएं. कंधे से कमर तक का हिस्सा हथेलियों के बल पर ऊपर उठाएं. इस अवस्था में 30 सेकेंड तक रहना है उसके बाद धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए वापस उसी अवस्था में लौट आएं.

इन बातों का रखें ध्यान

इस आसन को करते समय कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें क्योंकि ऐसा ना करने पर शरीर के किसी अंग में परेशानी आने का खतरा बढ़ जाता है. इस आसन को करते समय शरीर को कमर से उतना ही पीछे ले जाएं जितना आसानी से हो सके. लचीलापन एकदम से नहीं आएगा, अनावश्यक दबाव डालने से पीठ, छाती, कंधे या हाथों की मांस-पेशियों में दर्द हो सकता है. साथ ही पीठ या कमर में ज्यादा दर्द हो रहा हो तब भी इस आसान को ना करें. हम आपको योग गुरु बाबा रामदेव का एक वीडियो शेयर कर रहे हैं. जिसे देखकर भी आप इस योगासन को कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- वैज्ञानिकों ने खोज निकाला कैंसर का स्थाई इलाज, बस 48 घंटे में मिलेगा छुटकारा

First published: 12 February 2019, 14:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी