Home » हेल्थ केयर टिप्स » Know the Benefits of Eating one Walnut daily It's keep your heart healthy
 

आपके दिल और दिमाग को ताकत देने के साथ इन परेशानियों को दूर करता अखरोट

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2020, 14:36 IST

Benefits of Eating Walnut: हर व्यक्ति तेज दिमाग (Sharp Mind) और खुद को स्वस्थ (Healthy) रखना चाहता है. लेकिन भागदौड़ भरी इस लाइफ स्टाइल (Life Style) में हम अपनी देखभाल न करने की गलती कर देते हैं. हालांकि तेज दिमाग के लिए लोग अखरोट (Walnut) का सेवन करते हैं. अखरोट न सिर्फ खाने में स्वादिष्ट (Tasty) होता है बल्कि इसे खाने से दिमाग भी तेज होता है. साथ ही आपका दिल (Heart) यानी हार्ट स्वस्थ (Health Heart) रहता है.

दरअसल, अखरोट के खाने से शरीर में ऐसे बैक्टीरिया (Bacteria) की संख्या में वृद्धि होती है जो हमारे पेट के लिए फायदेमंद होते हैं. यानी जिससे हमारा पाचन तंत्र (Digestive System) ठीक रहता है. एक शोध में पता चला है कि ऐसे बैक्टीरिया पेट के साथ आपके दिल की सेहत को भी अच्छा रखने में मदद करते हैं.

अमेरिका की पेन स्टेट यूनिवर्सिटी में शोधकर्ता क्रिस्टीना पीटरसन का कहना है कि, प्रमुख साक्ष्य बताते हैं कि आहार में छोटे-मोटे सुधार से स्वास्थ्य को बहुत लाभ होता है. पौष्टिक आहार के रूप में दिन में दो से तीन औंस अखरोट खाने से आंत की सेहत ठीक रहती है. यह हृदय रोग के जोखिम को कम करने में भी मदद करता है. इसके अलावा एक अन्य शोध में पाता चला कि हमारी पाचन प्रणाली में मौजूद बैक्टीरिया अर्थात गट माइक्रोबायोम में बदलाव से यह समझने में मदद मिल सकती है कि अखरोट से हृदय को क्या-क्या लाभ हो सकते हैं. शोधकर्ताओं ने 42 लोगों पर अध्ययन करने के बाद ये रिजल्ट निकाला.

दरअसल, 30 से 65 साल की आयु के ये सभी लोग मोटापे से परेशान थे. शोध शुरू होने से पहले, इन लोगों को दो सप्ताह तक केवल औसत अमेरिकी खाना दिया गया. इसके बाद, हर प्रतिभागी को अध्ययन के लिए तय तीन तरह के आहारों में से कोई एक आहार अनियमित रूप से दिया गया. इन तीनों आहारों में पहले वाले आहार के मुकाबले संतृप्त वसा की मात्रा कम थी.

इसी के साथ इस आहार में साबुत अखरोट को शामिल किया गया था. वहीं दूसरे आहार में अखरोट की मात्रा के ही बराबर अल्फा-लिनोलेनिक एसिड और पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड को शामिल किया गया. जिसमें अखरोट बिल्कुन नहीं थे. वहीं तीसरे आहार में अखरोट में पाए जाने वाले एएलए की मात्रा के बराबर ओलेइक एसिड को शामिल किया गया था, इसमें भी एक भी अखरोट को शामिल नहीं किया गया था.

शोधकर्ता पीटरसन का कहना है कि अखरोट ने गट बैक्टीरिया की तादाद बढ़ा दी, जो सेहतमंद बनाए रखने में सहायक होते हैं. इनमें से एक बैक्टीरिया था रोजेबुरिया, जो गट लाइनिंग को सुरक्षित रखने में भूमिका निभाता है. हमने यूबैक्टीरिया एलिगेंस और ब्यूटिरिककोकस में भी बढ़ोतरी देखी गई.

अगर आपने खाएं हैं ये फल तो भूलकर भी न पीएं ये चीजें, जा सकती है जान !

Garlic Benefits : लहसुन की एक छोटी सी कली बदल देगी आपकी किस्मत, जानिए कैसे?

इन जादुई क्रिस्टल से मोटापा करें दूर, पहनते ही बेडौल शरीर में दिखेगा असर

First published: 10 February 2020, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी