Home » हेल्थ केयर टिप्स » Lack of deep sleep and more day time naps could be early sign of alzheimer
 

अगर आपको भी नहीं आती गहरी नींद तो हो जाएं सावधान, आप पर मंडरा रहा है इस गंभीर बीमारी का खतरा

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 January 2019, 15:18 IST

रात के वक्त ठीक से नींद लेने से हमारी थकान ही कम नहीं होती बल्कि इससे हमारा तनाव भी कम होता है. ऐसे में अगर आप रात में कम सोते हैं तो ये आपके लिए कई परेशानियां देने वाला हो सकता है. हाल ही में किए गए एक शोध में इस बात का पता चला है कि रात में गहरी नींद ना लेने से अल्जाइमर रोग होने की संभावना बढ़ जाती है.

इस शोध में पता चला कि बुजुर्ग लोग, जो कम गहरी नींद लेते हैं, जिनके मस्तिष्क में ताऊ प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है. इसकी वजह से पहचानने की क्षमता में गिरावट के साथ अल्जाइमर रोग होने की संभावना बनी रहती है. अमेरिका स्थित ‘वाशिंगटन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन’ के शोधकर्ताओं ने कहा कि गहरी नींद लेने वाले लोगों की याददाश्त मजबूत होती है और सोकर उठने के बाद वे तरोताज़ा महसूस करते हैं.

साइंस ट्रांसलेशन मेडिसिन’ नाम की पत्रिका में छपे इस शोध के मुताबिक जीवनकाल के उत्तरार्ध यानि बढ़ती उम्र में पूरी नींद नहीं ले पाना मस्तिष्क स्वास्थ्य में गिरावट का एक बड़ा संकेत हो सकता है.

वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर ब्रेंडन लूसी ने कहा कि, ‘‘क्या दिलचस्प बात है कि हमने लोगों में गहरी नींद में गिरावट और ताऊ प्रोटीन की अधिकता के बीच के व्युत्क्रमानुपाती संबंध को देखा, जो या तो संज्ञानात्मक रूप से सामान्य थे या मामूली रूप से अस्वस्थ थे, जिसका अर्थ है कि कम गहरी नींद लेना सामान्य और खराब मानसिक स्थिति के बीच संकेत का काम कर सकता है.”

उन्होंने कहा कि, ‘‘हमने यह देखा कि लोगों में नींद की वजह से कैसे उनमें याददाश्त संबंधी समस्याएं होने लगती है और गैर-जिम्मेदार तरीके से अल्जाइमर रोग से पीड़ित हो जाते हैं.’’

ये भी पढ़ें- अगर आपको भी है सर्दी-जुकाम या गले में हो रहा है दर्द और खराश से हैं परेशान तो पिएं ये अनोखी चाय

First published: 12 January 2019, 15:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी