Home » हेल्थ केयर टिप्स » lauki juice side effects
 

लौकी का ज्यादा जूस पीना हो सकता है खतरनाक, बरते ये सावधानियां

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 September 2020, 20:50 IST

अगर आप लौकी का जूस पीते हैं तो जरा संभल जाइए. लौकी का जूस हो सकता है खतरनाक. स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बारे में एडवाइजी जारी की है. अपनी बेहतर सेहत के लिए अगर आप लौकी के जूस पर बहुत ज्यादा निर्भर हैं, तो जरा संभलकर. इसका स्वाद अच्छी तरह से परखकर ही पिएं. क्योंकि कड़वा लगने वाला लौकी का जूस खतरनाक हो सकता है.

सेहत के लिए कहा जाता है की लौकी का जूस Bottle Gourd पीना काफी फायदेमंद है. इसे पीने से कहते हैं की वेट लॉस तेजी से होता है, एसिडीटी कम होती, इम्यून बढ़ता है और ये दिल की बीमारी के लिए भी काफी फायदेमंद साबित होता है. सुबह खाली पेट इसे पीने से कई तरह की बीमारियों से छुटकारा मिलता है. लेकिन किसी भी चीज को यदि हद से ज्यादा किया जाए तो वो सेहत के लिए बिल्कुल अच्छा साबित नहीं होता है.


लौकी का जूस भले ही हमारे सेहत के लिए फायदेमंद है लेकिन इसका अत्यधिक सेवन करना सेहत के लिए नुकसान पहुंचा सकता है. रिपोर्ट्स के मुताबिक लौकी का जूस जब ज्यादा कच्चा पिया जाए तो इसे पेट में लिए हानिकारक हो जाता है. जो शरीर में गंभीर रोग का कारण भी बन जाता है. चलिए आपको बताते हैं इससे होने वाले नुकसान के बारे में...

दरअसल हानिकारण पेस्टीसाइट्स और ऑक्सीटोसिन इंजेक्शन देकर लौकी को बड़ा किया जाता है. ऐसे में लौकी का जूस बेहद खतरनाक होता है यदि इसे कच्चा पी लिया जाए. तो इसे पीने से एलर्जी भी हो सकती है. हाथ-पैरों में सूजन, नाक या चेहरे पर दाने आना और उसमें खुलजी होना, भूख लगना बंद हो जाना आदि समस्याएं नजर आने लगती हैं.

Coronavirus: भारत ने अब तक 4 करोड़ 55 लाख लोगों का किया टेस्ट, 24 घंटों में सबसे ज्यादा 11 लाख टेस्ट

 

वहीं यदि आप डायबिटीज के मरीज हैं और आपने निर्धारित मात्रा से ज्यादा लौकी का जूस पी लिया तो ये आपके शुगर के स्तर को अचानक से बहुत कम कर सकता है. इससे आपको बेहोशी तक आ सकती हैं. ये बहुत ही खतरनाक स्तर होता है. इसका जूस इंसुलिन का स्तर सामान्य करता है लेकिन ज्यादा कम होने पर हाइपोग्लाइसीमिया का खतरा उत्पन्न हो सकता है.

आपको ध्यान रखने की जरूरत है कि लौकी का जूस बनाने के बाद सबसे पहले इसे चखें. यदि ये आपको स्वाद में कड़रवा लगे तो इसे कतई ना पीएं. एक गिलास लौकी के जूस से ज्यादा जूस बिल्कुल न पीएं. साथ बचा हुआ जूस भी कभी न पीएं. इसलिए कहा जाता है कि जूस हमेशा ताजा बनाएं और पीएं.

नोएडा: 24 घंटे के भीतर 5 लोगों ने की आत्महत्या, पांचों का कोई कनेक्शन नहीं लेकिन सुसाइड की वजह है सेम

First published: 5 September 2020, 20:50 IST
 
अगली कहानी