Home » हेल्थ केयर टिप्स » lifestyle symptoms and health issues that are misdiagnosed for depression
 

डिप्रेशन की निशानी नहीं किसी गंभीर बीमारी के होते हैं ये लक्षण, कहीं आप भी तो नहीं इसके शिकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 March 2019, 11:11 IST

ज्यादातर लोग चिंता और उत्सुकता को डिप्रेशन या फिर मानसिक समस्या समझकर उसे इग्नोर करते हैं, लेकिन ऐसा सोचना बिलकुल गलत होता है. हम बहुत सी स्वास्थ्य संबंधी गंभीर बीमारियों को डिप्रेशन समझ बैठते हैं. इससे आगे चलकर काफी समस्या होती है. चलिए जानते हैं कुछ ऐसे ही स्वास्थ्य समस्याओं के बारे में जिनके लक्षण डिप्रेशन जैसे होते हैं, लेकिन असल में वे गंभीर बीमारियों के संकेत हैं-

 

कई बार हम थायरलॉइड के लक्षणों को डिप्रेशन समझकर इग्नोर करते रहते हैं. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि थायरॉइड सीधा व्यक्ति के मूड और उसकी लाइफस्टाइल को प्रभावित करता है. इसके लक्षण डिप्रेशन के समान होते हैं. इसलिए ज़रूरी है कि टाइम पर थायरॉइड चेक करा लेना चाहिए.

न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर' एक ऐसी स्थिति है, जिसमें शरीर की तंत्रिका कोशिकाओं के हार्मोन उत्पादन में असामान्य वृद्धि होती है. यह ट्यूमर शरीर की आंतों में शुरू होता है. आम तौर पर यह फेफड़ों और अग्नाशय में होता है. ये ट्यूमर बेहद गंभीर है या नहीं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि यह अपनी किस स्टेज पर है. जब शरीर में एड्रीनलीन अत्यधिक मात्रा में बनने लगता है तो यह स्थिति पैदा होती है और इसके लक्षण बिल्कुल डिप्रेशन जैसे ही हैं, जैसे ही पैनिक अटैक, थकान और व्यग्रता.

इसके अलावा सिफलिस के लक्षण भी डिप्रेशन के समान होता है. यदि इसका सही समय पर इलाज न किया जाए तो इससे मस्तिष्क और स्पाइनल कॉर्ड को बुरी तरह प्रभावित कर देता है. इस अवस्था को न्यूट्रोसिफलिस कहा जाता है. इस बीमारी के दौरान कन्फ्यूज़न, डिप्रेशन और याददाश्त कमज़ोर होना, काफी हद तक डिप्रेशन के लक्षणों से मेल खाते हैं.

मिनिरल वॉटर आपकी सेहत के लिए है जानलेवा, रोजाना पीने वालों को होती हैं कई बीमारियां

First published: 12 March 2019, 11:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी