Home » हेल्थ केयर टिप्स » Momos bad for your health its cause lots of diseases related to your stomach says research
 

अगर आप भी लाल चटनी के साथ मोमोज बड़े चाव से खाते हैं, तो...

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 September 2018, 16:46 IST

चटपटे मोमोज़ का नाम सुनते ही आपके मुंह में भी पानी आ जाता होगा और आप इसे आए दिन खा ही लेते होंगे. दिल्ली के स्ट्रीट पर मोमोज़ काफी फेमस फास्ट फूड में से एक है और ज्यादातर लोगों की भीड़ भी मोमोज़ के ठेलों के आस-पास ही दिखाई देती हैं लेकिन हाल ही में मोमोज़ को लेकर एक बेहद चौंका देने वाला खुलासा हुआ है जिसे सुनकर आप मोमोज़ खाना छोड़ देंगे.

ये भी पढ़ें- 

इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग एंड न्यूट्रिशन पूसा ने हाल ही में हर स्ट्रीट में मिलने वाले मोमोज़ के बारे में एक रिसर्च के द्वारा एक खुलासा किया है और बताया है कि मोमोज़ तो नुकसानदायक है ही साथ ही इसके साथ ही मिलने वाली लाल रंग की चटपटी और तीखी सी चटनी बेहद खतरनाक है. इससे कई तरह की बिमारियां हो सकती हैं क्योंकि इसमें जरूरत से ज्यादा फीकल मैटर नाम का एक केमिकल पाया जाता है.

 

रिसर्च के अनुसार, मोमोज़ बनाने के लिए ब्लीचिंग मैदा का प्रयोग होता है और साथ ही इसमें कई तरह के केमिकल का भी इस्तेमाल किया जाता है. इनमें मोनोसोडियम ग्लूटामेट होता है जो कि हमारे शरीर की हड्डियों को कमजोर कर देता है और इससे हमें नर्वस डिसऑर्डर की समस्या हो सकती है.

 

इसके अलावा मोमोज में पत्तागोभी की जो स्टफिंग की जाती है जो कि बिना पकाए ही की जाती है. इसके साथ ही जो हम इसके साथ लाल चटनी को खाते है वो हमारे शरीर में पाइल्स की समस्या को न्यौता दे रही है. इसके साथ ही जो लोग नॉनवेज मोमोज खाते है उनके लिए ये और भी ज्यादा खतरनाक है क्योंकि इसमें मरे हुए चिकन की स्टफिंग की जाती है.

अगर आप भी इन गंभीर बिमारियों से बचना चाहते है तो किसी भी ठेले और स्ट्रीट के किनारे मोमोज के ठेले के पास ना जाए. इसको खाने से आपको पेट में ऐंठन,टाइफाइट, उल्टू दस्त, एसिडिटी,डिसेंट्री जैसी बड़ी बिमारियां हो सकती हैं. जितना हो सकें आप स्ट्रीट फूड खाने से बचे और यदि कभी खाने मन हो तो किसी साफ सुथरी जगह पर कुछ खाएं और इसके बाद गुनगुना पानी जरूर पीएं.

ये भी पढ़ें- डेंगू-मलेरिया के मच्छरों से बचने के लिए करें ये खास उपाय, नहीं पड़ेगी डॉक्टर के पास जाने की जरूरत

First published: 25 September 2018, 16:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी