Home » हेल्थ केयर टिप्स » Mumbaikars Are Worst Hit By Stress Study reveales
 

सबसे ज्यादा तनाव में रहते हैं इस शहर में काम करने वाले लोग

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 October 2017, 11:45 IST

एक अध्ययन में इस बात का पता चला है कि मुंबई के 31 फीसदी कामकाजी लोग तनाव से ग्रस्त हैं. एक ऑनलाइन डॉक्टर परामर्श मंच लीब्रेट द्वारा किए गए अध्ययन में पता चला है.

इसमें दिल्ली (27 फीसदी), बेंगलुरु (14 फीसदी), हैदराबाद (11 फीसदी), चेन्नई (10 फीसदी) और कोलकाता (7 फीसदी) शामिल हैं. इसकी वजह तंग समय-सीमा, काम का टारगेट, दबाव से निपटना, आॅफिस की राजनीति, लंबे समय तक आॅफिस में काम करना, काम-जीवन संतुलन कामकाजी लोगों की मुख्य चिंताएं हैं.

लीब्रेट के सीईओ और संस्थापक सौरभ अरोड़ा ने कहा, 'लोग तनाव को लेकर अपने परिवार और दोस्तों से बात करने में असहज महसूस करते हैं. हालांकि स्वास्थ्य के नजरिए से यह जरूरी है कि वह अपने अंदर की हताशा और अपनी भावनाओं का इजहार करें.

अरोड़ा ने कहा, आपको यह पता लगाना जरूरी है कि आपको क्या परेशान कर रहा है और तनाव का कारण क्या है, जिससे प्रभावी तौर से निपटा जा सके. लंबे समय से जारी तनावर्पूण भावनाएं गंभीर स्वास्थ्य का कारण बन सकती हैं. अध्ययन में पता चला है कि मीडिया और पब्लिक रिलेशन (22 फीसदी), बीपीओ (17 फीसदी), ट्रैवल और टूरिज्म (9 फीसदी) और एडवरटाइजिंग और इवेंट मैनेजमेंट (8 फीसदी) की तुलना में सेल्स और मार्केटिंग क्षेत्र से संबंधित कामकाजी पेशेवर (24 फीसदी) अधिक तनाव ग्रस्त रहते हैं.

First published: 12 October 2017, 11:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी