Home » हेल्थ केयर टिप्स » never skip morning brakfast causes brain damage
 

भूलकर भी नहीं छोड़ना चाहिए सुबह का नाश्ता खाना, ब्रेन हैमरेज के हो सकते हैं शिकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 February 2020, 16:12 IST

हमारे शरीर में दिमाग का स्वस्थ रहना सबसे ज्यादा जरूरी होता है. क्योंकि दिमाग ही हमें कार्य करने की क्षमता प्रदान करता है लेकिन सोचो यदि दिमाग में कोई परेशानी आ जाए तो इसका सीधा असर हमारे सोच, याददाश्त और संवेदना पर भी पड़ता है. इसलिए सबसे ज्यादा जरूरी है अपने दिमाग को स्वस्थ रखने की. क्योंकि अगर ये स्वस्थ नहीं रहेगा तो हम ब्रेन डैमेज के शिकार हो सकता हैं. लेकिन अब सवाल ये है कि आखिर हमें पता कैसे चलेगा कि हमारा दिमाग स्वस्थ भी हैं या नहीं. तो चलिए हम आपको बताते चलें कुछ ऐसी आदतों के बारे में जिससे ब्रेन डैमेज हो सकता है.

नमक का अधिक सेवन -

रिपोर्ट्स के मुताबिक ज्यादा नमक का सेवन करने से कई तरह की परेशानियां आ सकती हैं. इसके साथ ही बल्ड प्रेशर बढ़ता है जिसके कारण याददाश्त में कमी और ब्रेन स्ट्रोक हो सकता है. इसके स्ट्रोक के कारण आपके मस्तिष्क को नुकसान पहुंच सकता है. इसलिए आपने अक्सर डॉक्टर के मुंह से सुना होगा कि नमक संतुलित होनी चाहिए.

सुबह का नाश्ता न करना-

इस भागदौड़ भरी जिंदगी में अक्सर हम जल्दबाजी में सुबह का नाश्ता करना भूल जाते हैं. इसका असर मस्तिष्क को प्राप्त पोषक तत्व नहीं मिलते हैं. जिसका असर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है. इसके साथ ही हमारे मस्तिष्क को सही तरीके से काम करने से भी रोकता है. जिससे ब्रेन डैमेज जैसी समस्या भी आ सकती है.

 

फोन का ज्यादा इस्तेमाल -

मोबाइल फोन के ज्यादा इस्तेमाल से नींद न आना और अवसाद जैसी गंभीर बिमारी हो सकती है. यहीं नहीं एम्स ने रिसर्च के मुताबिक ज्यादा फोन इस्तेमाल करने से ब्रेन ट्यूमर होने की संभावना बढ़ जाती है.

खुराक से ज्यादा खाना खाना-

ज्यादा खाना खाने से न केवल आपका वजन बढ़ता है, इसके साथ ही ये हमारे मस्तिष्क की काम करने की क्षमता को भी कम कर देता है. कैलोरी के ज्यादा सेवन से किसी व्यक्ति में याददाश्त हानी होने की संभावना बढ़ जाती है.

थाइराइड में धोखे से भी नहीं खानी चाहिए गोभी, वरना पड़ जाएंगे लेने के देने

First published: 12 February 2020, 16:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी